जया किशोरी का असली नाम क्या है? जानें उन्होंने अपनी शादी के लिए क्या-क्या शर्त रखी है?

प्रसिद्ध मोटीवेशनल स्पीकर और कथा वाचक जया किशोरी जी धार्मिक नेता, गायिका और संगीत कलाकार हैं। 13 जुलाई 1996 को सुजानगढ़, राजस्थान में जन्मीं जया किशोरी जी का असली नाम जया शर्मा है। जया किशोरी जी श्रीमद्भागवत गीता र नानी बाई का मायरा जैसी कथाओं के वाचन से देश भर में लोकप्रिय हुईं।

Jai Kishori Ji

जया किशोरी जी ने अपनी स्कूली शिक्षा कोलकाता के महादेवी बिड़ला वर्ल्ड एकेडमी स्कूल से पूरी की। वह भगवान कृष्ण में विश्वास करती हैं। दरअसल, किशोरी भागवत, मायरा और रामायण की कहानी का वाचन करती हैं। आज वे एक मोटीवेशनल स्पीकर के तौर पर भी फेमस हैं।

जया किशोरी सबसे युवा और सबसे लोकप्रिय “हिंदू कथाकार” के रूप में प्रसिद्ध हुईं। वह न केवल भारत में बल्कि विश्व स्तर पर भी अपनी प्रेरणादायक वक्तृत्व कला और भारतीय स्वर्ण कथाओं के लिए प्रसिद्ध हैं। जया जी ने बहुत कम उम्र में यह काम शुरू किया था। कथा वाचक के साथ साथ वे गायिका भी हैं।

जया जी का परिवार

जया जी का जन्म और पालन-पोषण एक राजस्थान परिवार में हुआ है। इनके पिता का नाम पूज्य राधे श्याम जी हरितपाल है। इनकी माता का नाम पूज्य गीता देवी हरितपाल है। जया की एक बहन है। जया किशोरी जी ने फिलहाल  शेदी नहीं की है। शादी के सवाल पर जया किशोरी जी का कहना है कि वह भी हर लड़की की तरह शादी करना चाहती हैं। अमूमन अध्यात्म के रास्ते पर चलने वाले लोग शादी नहीं करते, लेकिन जया किशोरी ने यह बात बिल्कुल साफ कर दी है कि वह शादी के बाद बच्चे पैदा करना चाहती हैं।

शादी के लिए रखी ये शर्त

हालांकि, किशोरी जी ने अपनी शादी के लिए नियम और शर्तें रखी हैं। वह कहती है कि वह किसी ऐसे व्यक्ति से शादी करना चाहती है जो उनके और उनके परिवार के साथ रह सके, क्योंकि जया किशोरी अपने माता-पिता के साथ रहना चाहती है। किशोरी जा का कहना है मैं शादी के बाद जहां भी जाऊंगी, मेरे माता-पिता हमेशा मेरे साथ या मेरे आस-पास रहेंगे।

नेट वर्थ, घर और कार कलेक्शन

जया किशोरी जी का घर सुजानगढ़ में स्थित है। उनका परिवार फिलहाल कोलकाता में रहता है। जया किशोरी की नेट वर्थ लगभग 2 से 2.5 लाख होने का अनुमान है। उनकी आय के स्रोत उनके कथा वाचन लाइव प्रोग्राम और अन्य शामिल हैं। जया किशोरी के पास कारों का बहुत बड़ा कलेक्शन है। जया की कारों की सूची में फॉर्च्यूनर और इनोवा शामिल हैं।

कमाई का बड़ा हिस्सा जाता है यहां

हालाँकि, जया किशोरी सारा पैसा खुद पर खर्च नहीं करती हैं, उनकी कमाई का एक बड़ा हिस्सा नारायण सेवा संस्थान को जाता है जो एक गैर-लाभकारी धर्मार्थ संगठन है। कथित तौर पर, उनके प्रवचनों से जो कुछ भी एकत्र किया जाता है, उसे उदयपुर में नारायण सेवा संस्थान को दान कर दिया जाता है और सभी दान विकलांग लोगों की मदद और समर्थन के लिए काम आते हैं। इसके अलावा, उन्होंने विभिन्न भारतीय शहरों में 350 से अधिक कथा की है। वह परिवार के साथ सामान्य जीवन जीती है और योग प्रेमी है। किशोरी इंस्टाग्राम पर काफी एक्टिव रहती हैं, इंस्टाग्राम पर उनके 14 मिलियन फॉलोअर्स हैं।  

error: Alert: Content selection is disabled!!
WhatsApp चैनल ज्वाइन करें