भारत का एकमात्र रेलवे स्टेशन, जहां पर जाने के लिए लेना पड़ता है वीजा और पासपोर्ट, जानिए उसका नाम

भारतीय रेलवे को लेकर पूरी दुनिया में चर्चा में होती है, क्योंकि यह एशिया का सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है। इसके पीछे सबसे बड़ी वजह यह है कि इंडिया की आबादी बहुत ज्यादा है जो लगातार बढ़ती जा रही है। इसी वजह से भारत के लगभग सभी ट्रेनों में सफर करने वालों की कोई कमी नहीं होती है।

Indian Railway

भारत में तकरीबन 8500 के आसपास रेलवे स्टेशन मौजूद है जहां से करोड़ों लोग प्रतिदिन सफर करते हैं, लेकिन क्या आपने कभी ऐसे स्टेशन के बारे में सुना है जहां पर जाने के लिए वीजा और पासपोर्ट की आवश्यकता पड़ती है। तो चलिए अब हम उस रेलवे स्टेशन के बारे में जानते हैं :-

इस रेलवे स्टेशन पर जाने के लिए चाहिए वीजा-पासपोर्ट

हम सब जानते हैं कि वीजा और पासपोर्ट की जरुरत हमें तब पड़ती है जब हम दूसरे देश जाते हैं, लेकिन भारत में एक ऐसा रेलवे स्टेशन मौजूद है जहां पर जाने के लिए इंडियन लोगों को भी वीजा और पासपोर्ट की आवश्यकता पड़ती है।

हम जिस रेलवे स्टेशन के बारे में बात कर रहे हैं उसका नाम पहले अटारी (Atari) हुआ करता था, लेकिन अब इसे बदलकर अटारी श्याम सिंह स्टेशन कर दिया गया है। यह रेलवे स्टेशन पंजाब के अमृतसर में मौजूद है, जहां पर जाने के लिए भारतीय नागरिकों को पाकिस्तान का वीजा लेना पड़ता है।

इस रेलवे स्टेशन पर जो भी भारतीय बिना वीजा और पासपोर्ट के पकड़े जाते हैं उनके खिलाफ 14 फॉरेन एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया जाता है। उस थिति में उन्हें बेल मिलना भी बहुत ज्यादा मुश्किल हो जाता है, इस वजह से अगर आप अटारी श्याम सिंह रेलवे स्टेशन पर जाना चाहते हैं तो उससे पहले आपको पाकिस्तान का वीजा लेना होगा।

वह पंजाब का अंतिम रेलवे स्टेशन है

अटारी श्याम सिंह भारत का सबसे छोटा रेलवे स्टेशन है, जिसके एक तरफ अमृतसर और दूसरी तरफ लाहौर मौजूद है। यह पंजाब का अंतिम रेलवे स्टेशन है। समझौता एक्सप्रेस भारत की सबसे वीवीआईपी ट्रेन है और इसकी हरी झंडी भी अटारी रेलवे स्टेशन के द्वारा दिखाया जाता था। कश्मीर में जब से धारा 370 हटा है तब से इस समझौता एक्सप्रेस को बंद कर दिया गया है।

error: Alert: Content selection is disabled!!
WhatsApp चैनल ज्वाइन करें