Bageshwar Dham: धीरेंद्र शास्त्री का फैमिली बैकग्राउंड क्या है? उन्होंने कितनी पढ़ाई की है? तथा किससे सीखी है कला

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

मध्य प्रदेश में बागेश्वर धाम मंदिर के प्रमुख धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री इन दिनों अपने अनुयायियों के बीच काफी लोकप्रिय हैं। वे अक्सर लोगों की समस्याएं सुन उन्हें समाधान बताते हैं। बागेश्वर धाम सरकार के नाम से प्रसिद्ध धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री अक्सर सनातन धर्म की रक्षा की बातें कहते रहते हैं। इनके वीडियोज सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स पर काफी वायरल होते हैं।

dhirendra krishna shastri

धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के बारे में अब बहुत सारे लोग जानने लगे हैं, क्योंकि उनके वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल होते रहते हैं। लेकिन अभी भी बहुत सारे ऐसे लोग होंगे जिन्हें उनके बारे में कोई जानकारी नहीं होगी। आज हम इस लेख में बताने वाले है कि धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने कितनी पढ़ाई की है तथा उनकी फैमिली बैकग्राउंड क्या है?

बागेश्वर धाम सरकार कौन है?

बागेश्वर धाम सरकार बागेश्वर धाम के प्रमुख हैं। उनके अनुयायियों की संख्या काफी भारी है, जो उनकी अलौकिक क्षमताओं के कायल हैं। मध्य प्रदेश के छतरपुर में बागेश्वर धाम मंदिर राज्य के 26 वर्षीय स्वयंभू संत से जुड़ा है। 4 जुलाई 1996 को धीरेंद्र कृष्ण गर्ग का जन्म हुआ था। बाद में उन्होंने धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री नाम अपनाया।

खबरों के मुताबिक, उनकी मां का नाम सरोज गर्ग और पिता का नाम करपाल गर्ग है। उनके दादा भगवानदास गर्ग एक सिद्ध संत थे। हनुमान मंदिर के पास निर्मोही अखाड़े में दरबार लगता था, जो उनके दादा से जुड़ा था। बाद में, धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने दिव्य दरबार लगाना शुरू किया, जिसने बहुत लोकप्रियता हासिल की। बचपन से ही धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री अपने पिता के साथ कथा का वाचन किया करते थे और उनकी माता दूध बेचती थी।

लोगों की समस्याओं को हल करने के लिए आध्यात्मिक तरीकों के इन संत के कथित उपयोग ने उन्हें व्यापक लोकप्रियता दिलायी। उन्हें चमत्कारी माना जाता है, क्योंकि वह लोगों के मनोवैज्ञानिक मुद्दों के बारे में चर्चा करते हैं। धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री बाबा से जुड़ी कई घटनाएं हैं, जहां यह दावा किया जाता है कि उन्होंने अपनी कथित क्षमताओं का उपयोग करके कई लोगों की व्यक्तिगत समस्याओं का समाधान किया है।

जब भी इनके दर्शन के लिये लोगों का जमावड़ा इकट्ठा होता है, तो धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री हजारों लोगों के बीच से किसी एक व्यक्ति को नाम से संबोधित करते हैं। इतना ही नहीं वे उस व्यक्ति के बारे में कई अहम बातें भी बतातें हैं, जिसमें उसकी समस्या, यह कितने समय से अस्तित्व में है, और इसका समाधान, कागज के एक टुकड़े पर लिखते हैं। यहां तक कि बागेश्वर धाम सरकार की ये बातें वास्तविक होती हैं।

इनके दरबार में एक चमत्कार देखने को मिला था, जिसमें एक व्यक्ति दावा करता है कि एक जिन्न, भूत या अन्य आत्मा ने उसके शरीर में प्रवेश किया और उसे परेशान किया। बागेश्वर धाम सरकार या धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री मुद्दे को ठीक करने के लिए जिन्न को शरीर से बाहर निकाल देते हैं। दिलचस्प बात यह है कि यह देखा गया है कि इस दौरान जिन्न या भूत ने शास्त्री से बात की थी और आम जनता को यह अपने आप में काफी आकर्षक लगता है।

Leave a Comment

error: Alert: Content selection is disabled!!