Airtel ने लॉन्च किया अब तक के दो सबसे धांसू प्लान, बहुत कम पैसों में मिल रही पूरे महीने इंटरनेट सेवा

Airtel अपने ग्राहकों के लिये आये दिन नये और आकर्षक रिचार्ज प्लान्स और ऑफर्स लेकर आता रहता है। इस बार इस टेलीकॉम कंपनी ने 30 दिनों की वैलीडिटी के साथ 60GB डेटा के बड़े डेटा लाभ के साथ दो नए प्रीपेड प्लान पेश किए हैं। इन प्लान्स की कीमत 489 और 509 रूपये हैं।

Airtel

इन दोनों प्लान्स में अनलिमिटेड कॉलिंग, प्रतिदिन 100 एसएमएस और अन्य लाभ जैसे Wynk Music, हेलो ट्यून्स, फास्टैग पर 100 रुपये का कैशबैक और भी बहुत कुछ शामिल है। ये दोनों प्लान 30 दिनों की वैलिडिटी के साथ आते हैं। इसके अतिरिक्त, 50GB डेटा के साथ एक डेटा ऐड-ऑन प्लान भी है, जिसकी कीमत 301 रूपये है।

एयरटेल के 489 रिचार्ज प्लान का लाभ

एयरटेल के 489 रूपये के प्रीपेड प्लान में अनलिमिटेड लोकल / एसटीडी वॉयस कॉलिंग के साथ 50 जीबी मोबाइल डेटा और 30 दिनों की वैलीडिटी के साथ 100 एसएमएस / प्रतिदिन शामिल है। यूजर्स को विंक म्यूजिक, फ्री हैलो ट्यून्स, एयरटेल थैंक्स बेनिफिट्स का फ्री एक्सेस भी मिलेगा। फास्टैग और अपोलो 24/7 सर्किल पर 100 रुपये का कैशबैक भी इस प्लान में यूजर्स को मिलेगा।

एयरटेल का 509 रुपये वाले प्रीपेड प्लान के बेनीफिट्स

एयरटेल के नये 509 रूपये वाला प्रीपेड प्लान 489 रुपये के प्लान के बराबर लाभ प्रदान करता है, सिवाये 10GB के अतिरिक्त डेटा लाभ को छोड़कर। यह प्लान एक महीने के लिए अनलिमिटेड वॉयस कॉलिंग और 100 एसएमएस / दिन के साथ 60GB डेटा लिमिट के साथ आता है। अन्य लाभ जैसे Wynk Music, Hello Tunes, Rs. फास्टैग और अपोलो 24/7 सर्किल पर 100 रुपये का कैशबैक समान रहेगा।

इन दो योजनाओं के अलावा, डेटा ऐड-ऑन योजनाओं को चुनने के इच्छुक लोग इसे 301 रुपये में प्राप्त कर सकते हैं। यूजर्स को Wynk Music Premium के सब्सक्रिप्शन के साथ-साथ अपने मौजूदा प्लान पर 50GB का अतिरिक्त डेटा भी मिलेगा। 3,359 रुपये की कीमत वाली एक और लंबी अवधि की योजना है, जो एक साल के लिए मुफ्त डिज्नी प्लस का सब्सक्रिप्शन प्रदान करता है।

इस बीच, एयरटेल कथित तौर पर इस साल मार्च तक टैरिफ में 10 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी कर रहा है। इन्वेस्टमेंट बैंकिंग फर्म जेफरीज ने कहा है कि भारती एयरटेल और रिलायंस जियो वित्त वर्ष 2023, 2024 और 2025 की आखिरी तिमाही में अपने टैरिफ बढ़ाएंगे। विश्लेषकों के अनुसार, कंपनियों के राजस्व और मार्जिन पर बढ़ते दबाव के साथ-साथ मध्यम प्रति उपयोगकर्ता औसत राजस्व (एआरपीयू) में लाभ, इस वृद्धि के प्रमुख कारण हो सकते हैं।

error: Alert: Content selection is disabled!!
WhatsApp चैनल ज्वाइन करें