माता-पिता के इन आदतों की वजह से बच्चों पर पड़ता है बुरा असर, फिर बर्बाद हो जाती है जिंदगी

माता-पिता अपने बच्चों को सही परवरिश देने के लिए क्या कुछ नहीं करते।  उनके खाने-पीने से लेकर उनकी पढ़ाई तक की जिम्मेदारी होती है पेरेंट्स पर। पेरेंट्स होने के नाते उन्हें ये समझना जरूरी है कि वो अपने बच्चों के लिए आइडियल हैं।

Parenting tips

बच्चा जो अपने पेरेंट्स को करते हुए देखता है, वही आदत अपने जीवन में अपनाता है। इसलिए छोटी-छोटी गलतियों को भी सुधारना बहुत जरूरी है। आपकी गलतियां आपके बच्चों को बिगड़ैल बना सकती हैं। आईए जानते हैं उन गलतियों के बारे में–

जरूरत से ज्यादा एक्सपेक्टेशन करना

बहुत से पेरेंट्स अपने बच्चों से हाई एक्सपेक्टशंस रखते हैं। ये आदत बिल्कुल गलत है क्योंकि हर बच्चा एक जैसा नहीं होता। सबके अपने अलग तरीके होते हैं। उनके इंटरेस्ट और उनके टैलेंट अलग-अलग होते हैं। इसलिए बहुत जरूरी है कि आप अपने बच्चों के टैलेंट को पहचाने और इस दिशा में आगे बढ़ाने में उसकी मदद करें। 

बच्चों को ना बनाएं घमंडी

बच्चों में घमंड की आदत अधिकतर उनके माता-पिता से आती है और घमंड ही इंसान को नीचे गिराने का सबसे प्रमुख कारण है। घमंड की वजह से लोग सेल्फसेंट्रिक बनते हैं और अपने आसपास के लोगों और चीजों को भूल जाते हैं। उनके ऊपर किसी के इमोशंस का कोई असर नहीं पड़ता। ऐसे बच्चे अपने परिवार के प्रति भी रिस्पांसिबल नही होते। अगर आप घमंडी या सेल्फ सेंट्रिक है और आप चाहते हैं कि ये आदत आपके बच्चों में ना आए तो इसके लिए जरूरी है आपको ये आदत आज ही छोड़ देनी चाहिए। 

भूल कर भी ना करें कंपैरिजन

कंपैरिजन से बच्चों पर प्रेशर बहुत ज्यादा पड़ता है इसलिए अपने रिश्तेदारों या फिर अपने फ्रेंड्स के बच्चों से अपने बच्चों की तुलना ना करें। हर बच्चा अलग है, उसका दिमाग अलग तरह से काम करता है। कंपेयर करने से बच्चों के दिमाग पर नेगेटिव प्रभाव पड़ता है। बच्चे हीन भावना से ग्रस्त हो जाते हैं। बच्चे कभी भी ग्रो नहीं कर पाएंगे, अगर आप अपने बच्चों की कंपैरिजन किसी दूसरे बच्चे के साथ करते हैं। आपका बच्चा जो है सर्वश्रेष्ठ है और उसकी प्रतिभा निखारने में आप उसकी मदद करें। 

खाने के लिए ना डालें प्रेशर

कुछ माता-पिता अपने बच्चों को हेल्दी बनाने के लिए ज्यादा से ज्यादा खाने पर प्रेशर डालते हैं। ये काम सही नहीं है। अगर आप अपने बच्चों के सामने जंक फूड खा रहे हैं तो आपको ये उम्मीद नहीं करनी चाहिए कि वो हेल्दी फूड खाएगा। ऐसे में आप उसको डांट फटकारकर भी नहीं खिला सकते। इसलिए हमेशा आप भी हेल्दी फूड खाएं और अपने बच्चों को भी हेल्दी फूड खिलाएं। जब उसकी भूख ना हो तो उसे जबरदस्ती खाना खिलाने की कोशिश ना करें। 

अगर आप अपनी इन कमियों को दूर कर लेंगे तो इससे आपके बच्चों के अंदर कोई कमी नहीं रह जाएगी। आप एक परफेक्ट पेरेंट्स और आपका बच्चा एक आइडियल बच्चा कहलाएगा। 

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें