दुनिया का एकमात्र देश जहां तैयार होती है महंगी-महंगी ब्रांड के कपड़े, वहां उसकी कीमत मात्र 100 रुपये होती है

जिन लोगों के पास अधिक पैसे होते हैं वो अच्छी ब्रांड के कपड़े पहनते हैं। वहीं, दूसरी तरफ कुछ ऐसे लोग भी है जो चाहकर भी अच्छे कपड़े नहीं खरीद पाते हैं, क्योंकि उनकी आर्थिक स्थिति बेहतर नहीं है। इस वजह से सिर्फ जरुरत की चीजों पर ही उनका जीवन समाप्त हो जाता है।

Branded Clothes Bangladesh

कुछ लोगों के मन में एक सवाल जरुर आता होगा कि दुनिया में जितनी भी बड़ी कंपनियां है उसके द्वारा जो कपड़े तैयार किए जाते हैं उसमें कितना पैसा खर्च होता है। इसी वजह से आज हम एक ऐसी जगह के बारे में बात करने जा रहे हैं जहां पर लगभग सभी ब्रांड के कपड़े तैयार किए जाते हैं। इसके अलावा वहां पर उसकी प्राइस भी बहुत कम होती है।

बंगलादेश है वस्त्र निर्माण का मैन्युफैक्चरिंग हब

अमीर जिस शौक को पूरा करने के लिए महंगे से महंगे कपड़े खरीदता है उसे बांग्लादेश के गरीब कारीगरों द्वारा निर्माण किया जाता है। इस के लिए उन कारीगरों को दिन-रात मेहनत करना पड़ता है। आपको आश्चर्य होगा कि जिस कपड़े को तैयार करने में 1000 रुपए खर्च होता है, उसे वहां पर सिर्फ 100 रुपये में तैयार किया जाता है।

दुनिया के बड़े-बड़े ब्रांड भी अपना कपड़ा वहीं से तैयार करवाते हैं। वर्तमान में बांग्लादेश देश को कपड़ों का मैन्युफैक्चरिंग हब कहा जाता है, क्योंकि वहां पर 5500 से अधिक रेडीमेड कपड़ों के कारखाने हैं। उन कपड़ों के कारखानों में 40 लाख से ज्यादा श्रमिक काम करते हैं।

बांग्लादेश में इन ब्रांड्स के कपड़े तैयार होते हैं

टॉमी हिल फिगर, एच एंड एम, ज़ारा, कैप, आउटलेट्स,केल्विन क्लेन, जियोर्जियो अरमानी, रआल्फ़ लॉरेन, ह्यूगो बॉस, मैंगो, और बीड़ी जैसी ब्रांड भी बांग्लादेश से अपने सभी कपड़े तैयार करवाते हैं। क्योंकि वहां कम पैसों में अच्छी क्वालिटी के कपड़े बनकर तैयार हो जाते हैं। बांग्लादेश के कपड़े कारखाने में काम करने वाले मजदूरों को बहुत कम पैसा दिया जाता है।

बांग्लादेश के ढाका, चटगांव तथा उसके आसपास के क्षेत्रों में प्रत्येक दिन 1.25 लाख से ज्यादा टी-शर्ट का उत्पादन किया जाता है। क्योकि वहां पर 500 से अधिक रेडीमेड कपड़ों के कारखाने मौजूद है। एक समय बांग्लादेश बाढ़ और तूफान की वजह से बहुत परेशान रहता था, लेकिन अब बांग्लादेश दुनिया में सबसे अधिक रेडीमेड कपड़ों का निर्माण करने वाला देश बन गया है। वहां पर बच्चों से लेकर बुजुर्गों के लिए सभी तरह के कपड़ों का निर्माण किया जाता है।

error: Alert: Content selection is disabled!!
WhatsApp चैनल ज्वाइन करें