दूध खरीदने वाले को सरकार ने दिया बड़ा झटका, अब दूध पर भी देना होगा GST, जानिए दूध कितना होगा महंगा

आटा-दाल और चावल की महंगाई से आम जनता पहले से ही परेशान थी, मगर अब दूध पर महंगाई बढ़ने की आशंका से लोग परेशान हैं। मिल्क से बने प्रोडक्ट्स पर भी जीएसटी लागू की जा सकती है। सरकार द्वारा दूध से बने पदार्थों पर जीएसटी लगाया जा सकता है।

Milk

अगर आप रोजाना दूध या इससे बनने वाली चीजें खरीदते हैं तो आप के लिए चिंता का विषय है, क्योंकि सरकार इस पर जीएसटी लागू करने वाली है। तो अब सवाल उठता है कि अगर इस पर जीएसटी लगाया जाता है तो उसकी कीमत में कितना फर्क आ सकता है तो चलिए हम इसके बारे में जानते हैं।

दही और लस्सी के दाम बढ़ जाएंगे

आपको बता दूं कि काउंसिल ने दूध, दही और छाछ पैकेट प्रोडक्ट्स और ब्रांड प्रोडक्ट्स को टैक्स के दायरे में लाने का फैसला किया है। मौजूदा समय में इन प्रोडक्ट्स पर जीएसटी नहीं लगती है। काउंसिल के इस फैसले का असर अतिरिक्त लागत में डेयरी कंपनियों का पड़ेगा और इसकी भरपाई के लिए डेयरी कंपनियां अन्य डेयरी उत्पादों के दाम भी बढ़ा सकती है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने जीएसटी काउंसिल की 47वीं बैठक में खाने पीने की बहुत सी चीजों पर जीएसटी हटाने का फैसला किया है, लेकिन काउंसिल ने कहा कि खाने-पीने के पदार्थ जैसे अनाज, दाल, चावल आदि को जीएसटी के दायरे से बाहर रखा गया है जो ब्रांडेड नहीं है।

दही और लस्सी पर लग सकता है 5 फ़ीसदी जीएसटी

पैकेट वाली दही, लस्सी, बटर्मिल्क आदि समेत लीगल मेट्रोलॉजी एक्ट के तहत प्री पैकेज्ड लेबल कैटेगरी के दायरे में आने वाले खाने-पीने पदार्थों पर दी जा रही छूट को समाप्त किया जाएगा। ICICI सिक्योरिटीज रिसर्च एनालिस्ट के अनुसार दही और लस्सी पर 5 फ़ीसदी टैक्स गाई जा सकती है। खरीदने की लागत बढ़ने के साथ-साथ 5 फ़ीसदी का टैक्स लगने से डेयरी कंपनियों पर अतिरिक्त बोझ पड़ सकता है। सूत्रों के अनुसार इस बोझ को कम करने के लिए डेयरी कंपनियां दूध के दाम बढ़ा सकता है। कंपनी की आय में लस्सी और दही का हिस्सा 15 से 25 फ़ीसदी तक है।

विश्लेषकों के अनुसार दूध -दही पर 5 फ़ीसदी जीएसटी लग सकता है, लेकिन इसका कुछ हिस्सा कंपनियां इसको टैक्स के रूप में देंगे जैसे – पैकेजिंग, मटेरियल, कच्चे माल, ट्रांसपोर्टेशन और माल भाड़े की लागत जैसी चीजों में क्लेम कर लेगी, तो इसका सारा दाम 2 से 3 फ़ीसदी ही बढ़ेगा।

error: Alert: Content selection is disabled!!
WhatsApp चैनल ज्वाइन करें