मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना 2023: UP Bal Shramik Vidya की लाभ, पात्रता व ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना की शुरुआत की है। इसका लाभ राज्य के उन बच्चों को दिया जाएगा, जिसका परिवार श्रमिक का काम करते हैं। हम सब जानते हैं कि श्रमिकों की आय बहुत कम होती है जिस वजह से वो अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा नहीं दे पाते हैं। इसी वजह से UP Mukhyamantri Bal Shramik Vidya Yojana 2023 शुरू किया गया है।

UP Mukhyamantri Bal Shramik Vidya Yojana

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना के तहत राज्य के मजदूरों के अलावे अनाथ बच्चों को भी इसका लाभ दिया जाएगा। इस स्कीम के तहत राज्य के अनाथ व श्रमिक का काम करने वाले लड़के को हर महीने 1000 तथा लड़कियों को 1200 रुपये दिए जाएंगे। इस वजह से राज्य के सभी पात्र लोगों को UP Bal Shramik Vidya Yojana 2023 का लाभ उठाना चाहिए। आगे इस लेख में हमने इसकी सभी महत्वपूर्ण जानकारी दी है, इस वजह से आपको यह आर्टिकल पूरा पढ़ना चाहिए।

यूपी मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना 2023 क्या है?

UP Mukhyamantri Bal Shramik Vidya Yojana की शुरुआत वहां के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा की गई है। इस स्कीम के माध्यम से राज्य के मजदूर परिवारों के बच्चों को अच्छी शिक्षा के लिए हर महीने आर्थिक मदद दी जाएगी। उत्तर प्रदेश सरकार इसका लाभ अनाथ बच्चों को भी देने का फैसला किया है ताकि उनका भी भविष्य उज्जवल हो सके। UP Bal Shramik Vidya Yojana के तहत लड़कों को 1000 तथा लड़कियों को 1200 रुपये हर महीने दिए जाएंगे। इन पैसों की मदद से वो बच्चे अच्छी शिक्षा प्राप्त कर पाएंगे।

UP Bal Shramik Vidya Yojana 2023 Summary

योजना का नाममुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना
राज्यउत्तर प्रदेश
शुरू किसने कीश्री योगी आदित्यनाथ जी ने
साल2023
लाभ किसे मिलेगाराज्य के मजदूर व अनाथ बच्चों को
उद्देश्य क्या हैमजदूर तथा अनाथ बच्चों की अच्छी शिक्षा के लिए आधिक मदद करना
ऑफिसियल वेबसाइटजारी नहीं की गई है

मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना का उद्देश्य क्या है?

भारत के हर राज्यों में मजदूर रहते हैं, लेकिन उनकी आय बहुत कम होती है। इस वजह से वो अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा नहीं दे पाते हैं, इसी को देखते हुए मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना की शुरुआत की गई है। इस स्कीम का उद्देश्य उत्तर प्रदेश के मजदूर परिवारों के बच्चे तथा अनाथ बच्चों को अच्छी शिक्षा दिलाना है ताकि उनकी भी जिंदगी अच्छी हो सके। UP Bal Shramik Vidya Yojana के माध्यम से लड़के को 1000 तथा लड़कियों को 1200 रुपये हर महीने दिए जाएंगे, ताकि उन पैसों की मदद से वो अच्छी शिक्षा प्राप्त कर सके।

किस-किस को मिलेगा बाल श्रमिक विद्या योजना का लाभ?

जैसा कि आपने उपर पढ़ा है कि UP Bal Shramik Vidya Yojana का लाभ मजदूर परिवार और अनाथ बच्चों को मिलेगा। इसके अलावा इस स्कीम का लाभ उन परिवार के बच्चों को भी दिया जाएगा जिनके माता-पिता दिव्यांग या किसी गंभीर बीमारी का शिकार है। राज्य के उन लोगों को भी पात्र माना जाएगा, जिनके पास कोई भूमि नहीं है। इसकी पहचना करने के लिए साल 2011 की जनगणना का इस्तेमाल किया जाएगा। इस योजना का लाभ देने के लिए पात्र परिवारों की पहचान श्रम विभाग के ऑफिसर्स द्वारा सर्वे के माध्यम से किया जाएगा।

UP Mukhyamantri Bal Shramik Vidya Yojana की शुरुआत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने 12 जून 2020 को की थी। उस दौरान कहा गया था कि इस स्कीम का लाभ लेने वाले पात्र परिवारों के बच्चों की पढ़ाई के लिए हर महीने आर्थिक मदद दी जाएगी। सरकार के द्वारा यह भी ऐलान किया गया था कि लड़कों को 1000 तथा लड़कियों को 1200 रुपये प्रत्येक महीने दिया जाएगा। अगर कोई स्टूडेंट्स आठवीं से लेकर दसवीं कक्षा में पढ़ाई करता है तो उन्हें प्रति वर्ष 6000 रुपये भी दिए जाएंगे।

मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना का प्रथम चरण

उत्तर प्रदेश सरकार ने 12 जून 2020 को इस योजना को चालू किया था। उस दौरान यह निर्धारित किया गया था कि UP Bal Shramik Vidya Yojana के तहत पहले चरण में राज्य के दो हजार पात्र बच्चों को इसका लाभ दिया जाएगा। इस योजन को शुरू करने से पहले राज्य के 10 जिलों में इसका ट्रायल लिया गया था, ताकि इसका संचालन अच्छी तरह किया जा सके। उत्तर प्रदेश के पात्र बच्चों की आयु कम से कम 8 और ज्यादा से ज्यादा 18 वर्ष होनी चाहिए, तभी उन्हें इस स्कीम का लाभ प्रदान किया जाएगा।

UP Bal Shramik Vidya Yojana 2023 के कुछ लाभ

  • बाल श्रमिक विद्या योजना को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चालू किया गया है।
  • इस वजह से इसका लाभ सिर्फ वहीं के बच्चों को दिया जाएगा।
  • इस योजना के लड़कों को हर महीने 1000 रुपये दिए जाएंगे।
  • वहीं लड़कियों को प्रत्येक महीने 1200 रुपया दिया जाएगा।
  • उसके बाद आठवीं से 10वीं तक के बच्चों को हर वर्ष 6000 रुपये अतिरिक्त मिलेंगे।
  • इस स्कीम का लाभ पहले चरण में दो हजार बच्चों को दिया जाएगा।
  • राज्य के मजदूर परिवारों को इसका लाभ दिया जाएगा।
  • इसके अलावा अनाथ बच्चों को भी इस योजना का लाभ मिलेगा।
  • यूपी के भूमिहीन परिवार के बच्चे भी इसका लाभ ले पाएंगे।
  • जिन बच्चों के माता-पिता विकलांग या किसी बड़ी बीमारी से ग्रसित है उसे भी इसका लाभ मिलेगा।

Uttar Pradesh Bal Shramik Vidhya Yojana के लिए चयन की प्रक्रिया

  • सबसे पहले श्रम विभाग के अधिकारियों द्वारा सर्वे किया जाएगा।
  • उस दौरान इस योजना के लिए पात्र बच्चों का चयन किया जाएगा।
  • जिन बच्चों के माता-पिता मजदूर है उसका सलेक्शन होगा।
  • राज्य के अनाथ बच्चों का भी चयन किया जाएगा।
  • जिस बच्चे के माता-पिता दिव्यांग है उसका भी चयन होगा।
  • जिस बच्चे के माता-पिता किसी गंभीर बीमारी का शिकार है उनका भी चयन किया जाएगा।
  • भूमिहीन परिवार के बच्चों का चयन 2011 की जनगणना के आधार पर किया जाएगा।
  • जब चयन की मंजूरी मिल जाएगी, फिर उसे ई-ट्रैकिंग सिस्टम पर अपलोड कर दिया जाएगा।

यूपी मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना के लिए दस्तावेज

  • लाभार्थी उत्तर प्रदेश का निवासी होना चाहिए।
  • लाभ लेने वाले बच्चे की न्यूनतम आयु 8 वर्ष होनी चाहिए।
  • उस बच्चे की अधिकतम आयु 18 वर्ष होनी चाहिए।
  • आवेदक के पास आधार कार्ड होना आवश्यक है।
  • उस बच्चे के पास निवास प्रमाण पत्र भी होना चाहिए।
  • उस बच्चे के पास मोबाइल नंबर भी होना आवश्यक है।
  • आवेदन के दौरान उसे अपना पासपोर्ट साइज फोटो भी देना होगा।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना 2023 के लिए आवेदन कैसे करें?

उत्तर प्रदेश सरकार ने UP Bal Shramik Vidya Yojana 2023 की घोषणा तो कर दी है, लेकिन इस के लिए आवेदन लेने की प्रक्रिया शुरू नहीं की है। इस वजह से इसका लाभ लेने के लिए सभी इच्छुक उम्मीदवारों को थोड़ा इंतजार करना होगा। जब इस के लिए आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी तब हम इस लेख को अपडेट कर देंगे।

Leave a Comment

error: Alert: Content selection is disabled!!