एक रुपये का चमत्कारी सिक्का आपको घर बैठे बना देगा करोड़पति, लेकिन करना होगा ये काम

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

घर बैठे करोड़ों रूपये कमाना कौन नहीं चाहता और ऐसे में अगर इसके लिये मेहनत भी ना करनी पड़े तो क्या ही कहने। आज के इस आर्टिकल में हम आपको एक ऐसी ही तरकीब के बारे में बताने वाले हैं, जिसके जरिये आप घर बैठे आराम से 10 करोड़ रूपये तो कमा ही सकते हैं, वो भी बिना किसी परिश्रम के।

miracle one rupee coin

आपने सुना होगा कि लोग पुराने करेंसी नोटों और सिक्कों को पाने के लिए मोटी रकम देने को तैयार हैं। हमारे घर के किसी कोने में या दादी मां की पेटी में ऐसे कई पुराने सिक्के और नोट पड़े होते हैं, जिनकी ऑनलाइन बाजार में काफी मांग है। इनके लिये लोग लाखों करोड़ों रूपये तक देने को तैयार हैं।

10 करोड़ में बिक चुका है ये सिक्का

हाल ही में एक 1 रूपये का पुराना सिक्का, इसी तरह 10 करोड़ रूपये में बिका है। ये सिक्का तब का है, जब हमारे देश में ब्रिटिश का शासन चल रहा था। इस सिक्के पर दोनों तरफ गेहूं की बालियों की छवि अंकित है। अगर आपके पास भी ऐसा सिक्का है, तो आप आराम से इस बेच कर करोड़पति बन सकते हैं।

अगर आपके पास 5 रुपये का नोट है. तो आप घर बैठे करोड़पति बन सकते हैं। आज आपके पास अतिरिक्त धन कमाने की शानदार संभावना है और इसके लिये आपको काम करने या कोई व्यवसाय करने की आवश्यकता नहीं होगी। आपको बस इतना करना है कि अपने नोट या सिक्के की तस्वीर लेकर इसे नीलामी के लिये रख दें।

सिक्के की फोटो क्लिक कर इन वेबसाइट्स पर करें अपलोड

ऐसी कई वेबसाइटें हैं, जहां आप अपने पुराने नोटों और सिक्कों की तस्वीर अपलोड कर सकते हैं और आवश्यकताएं पूरी करके लाखों और करोड़ों तक कमा सकते हैं। इंडिया मार्ट की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आप ये तस्वीर अपलोड कर सकते हैं। वेबसाइट पर आपके सिक्के या नोट का दिखाया जाएगा। इच्छुक व्यक्ति मालिक से संपर्क करेंगे और दोनों एक सौदे पर बातचीत करने में सक्षम होंगे। अन्य वेबसाइट जैसे ओएलएक्स, कॉइनबाजार जहां नाम, ईमेल पता और फोन नंबर जैसे विवरण भरकर पंजीकरण कर सकते हैं।

आरबीआई की चेतावनी को रखे ध्यान में

हालांकि, गत अगस्त के महीने में भारतीय रिजर्व बैंक ने पुराने नोटों और सिक्कों की खरीद-बिक्री को लेकर चेतावनी जारी की थी। आरबीआई के एक बयान के अनुसार, “कुछ तत्व धोखाधड़ी से भारतीय रिजर्व बैंक के नाम/लोगो का उपयोग कर रहे हैं, और विभिन्न ऑनलाइन/ऑफ़लाइन प्लेटफ़ॉर्म माध्यमों से पुराने नोटों और सिक्कों की खरीद-बिक्री से जुड़े लेनदेन में जनता से शुल्क/कमीशन/कर की मांग कर रहे हैं”।

भारतीय रिजर्व बैंक ने कहा है कि वे किसी भी प्रकार के शुल्क या कमीशन से जुड़े व्यवसाय में संलग्न नहीं है। सेंट्रल बैंक के मुताबिक, आरबीआई ने किसी भी संस्था, कंपनी, व्यक्ति आदि को इस तरह के लेनदेन में अपनी तरफ से फीस या कमीशन वसूलने की इजाजत नहीं दी है।

Leave a Comment

error: Alert: Content selection is disabled!!