रेलवे ने किया बड़ा उलटफेर, अचानक बदल दिए ट्रेन टिकट बुक करने के नियम, जानिए अब यात्रियों को क्या होगा फायदा

पूरे देश में हर दिन लाखों करोड़ों लोग ट्रेन में सफर करते हैं। रेलवे अपने यात्रियों को कई तरह की सुविधाएं मुहैया करवाता है। ट्रेन के यात्रियों के सामने अक्सर यह दिक्कत आती है कि ट्रेन की टिकट बुक करने के बाद अगर उन्हें सफर नही करना होता है या फिर अपनी जगह किसी और को भेजना होता है तो पहले उन्हें अपनी टिकट को कैंसल करना पड़ता है और फिर उस व्यक्ति के लिए दूसरी टिकट बुक करनी पड़ती है, जिसे अपनी जगह भेजना होता है।

Train Ticket Booking Rules
WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

अब ऐसे में यह दिक्कत आती है कि टिकट मिलना बहुत ही मुश्किल हो जाता है और बुक की गई टिकट को कैंसल करने पर जो चार्ज कटता है सो अलग। तो यात्रियों की इस परेशानी को दूर करने के लिए रेलवे ने टिकट को ट्रांसफर करने का उपाय निकाला है। हालांकि, यह सुविधा काफी समय पहले से ही मौजूद है लेकिन बहुत ही कम लोगों को इसकी जानकारी है।

बदल गए ट्रेन टिकट बुक करने के नियम

आज हम आपको इसकी पूरी जानकारी देने वाले हैं। इंडियन रेलवे का यह कहना है कि कोई भी व्यक्ति केवल एक बार ही अपनी टिकट को ट्रांसफर कर सकता है। मतलब अगर किसी ने एक बार टिकट को किसी के नाम पर ट्रांसफर कर दिया तो उसे बदला नही जा सकता यानी कि दोबारा किसी और के नाम पर नही किया जा सकेगा।

आइये अब जानते हैं कि कैसे ट्रांसफर किया जाता है टिकट। सबसे पहले तो आप अपनी टिकट का प्रिंट आउट निकाल ले। फिर अपने नजदीकी रेलवे स्टेशन के टिकट रिज़र्वेशन काउंटर पर जाए। अब जिसके नाम पर आपको टिकट ट्रांसफर करना है उसका आईडी प्रूफ जैसे आधार कार्ड या वोटर कार्ड देना होगा। अब काउंटर से टिकट ट्रांसफर का फॉर्म ले और उसे भर के आईडी के साथ जमा कर दे।

कोई भी यात्री अपने परिवार के किसी भी सदस्य के नाम पर टिकट को ट्रांसफर कर सकते हैं जैसे माता, पिता, भाई, बहन, पति, पत्नी कोई भी। इसके लिए ट्रेन छूटने के 24 घंटे पहले आपको काउंटर पर जाकर टिकट ट्रांसफर के लिए अप्लाई करना होगा। यह सुविधा ऑनलाइन भी मिलती हैं।

error: Alert: Content selection is disabled!!