महिलाओं को हार्ट अटैक आने से पहले दिखते हैं ये लक्षण, समय रहते हो जाएं सावधान, वरना जा सकती है जान

रोजमर्रा का स्ट्रेस और अनहेल्दी लाइफस्टाइल हार्ट से जुड़ी कई समस्याओं का कारण बनता है, जो आगे चलकर हार्ट अटैक तक की वजह बन जाता है। हार्ट अटैक में ब्लड फ्लो ब्लॉक हो जाता है। हार्ट अटैक न सिर्फ पुरुषों के लिए बड़ा जोखिम पैदा करता है, बल्कि महिलाओं के लिए भी एक खतरनाक बीमारी है।

Heart attack symptoms in women

महिलाओं में सीने में दर्द और बेचैनी जैसे लक्षण दिल के दौरे के दौरान सबसे पहले उभरकर आते हैं। महिलाओं को शरीर के ऊपरी हिस्से में अकड़न महसूस होती है। इसके अलावा, बिना सीने में दर्द के भी हार्ट अटैक आ सकता हैं।

इन लक्षणों को कभी नहीं करना चाहिए अनदेखा

  • छाती में दबाव और दर्द महसूस होना
  • यदि सीने में दर्द, बेचैनी, जलन और दबाव महसूस हो तो यह हार्ट अटैक का एक संकेत हो सकता है। कुछ महिलाओं में केवल छाती की बांई तरफ दर्द न होकर पूरे सीने में दर्द होता है।

हाई ब्लड प्रेशर

महिलाओं में प्रेग्नेंसी के दौरान ब्लड प्रेशर बढ़ना आम बात है, जो हार्ट अटैक की वजह बन सकता है। इसके अलावा महिलाओं द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली बर्थ कंट्रोल पिल्स लेने से हार्ट पर नेगेटिव असर पड़ता है।

आंख, गर्दन, और जबड़े में दर्द

यह दर्द आ और जा सकता है। यह धीरे-धीरे या अचानक हो सकता है और एक या दोनों हाथ, पीठ, गर्दन और यहां तक कि जबड़ा सहित कहीं भी हो सकता है। कभी-कभी दर्द का कारण पता लगाना मुश्किल हो सकता है, लेकिन जैसे-जैसे आप मेहनत करेंगे वैसे-वैसे बेचैनी शुरू हो जाएगी और बिगड़ जाएगी। जबड़े में दर्द बाईं या दाईं ओर हो सकता है।

बार-बार चक्कर आना

व्यक्ति के रक्त संचार में बेहद मेहनत लगती है। उनके दिमाग तक ठीक तरीके से ऑक्सीजन नहीं पहुंच पाता है। महिलाओं में देखा जाता है कि उन्हें हार्ट अटैक से पहले नॉसिया और वॉमिटिंग की समस्या आती है, साथ ही सर दर्द, सांस चढ़ना और चक्कर भी महसूस होते हैं। यह भी हार्ट अटैक का गंभीर लक्षण है।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें