आखिर क्यों सिर्फ लाल रंग की चीज प्यार से जुड़ी हुई है? कोई अन्य रंग की क्यों नहीं होती है? जानिए इसकी वजह

वैलेनटाइंस डे हो, पहली डेट हो या शादी एक रंग, जो इन अहम प्यार के अवसरों पर देखा जाता है, वो है लाल रंग। लड़कियां अक्सर ज्यादातर अपनी पहली डेट पर रेड ड्रेस पहनना चाहती हैं। अपनी प्रेमिका या प्रेमी को तोहफा देना हो, तो लाल रंग का गुलाब सबसे पहला ऑप्शन होता है।

Love

शादी में भी दुल्हनें लाल रंग का लहंगा ही पहनती हैं। अब आप सोच रहे होंगे कि ये बातें तो हर किसो को पता है, तो हम अपने लेख में ये क्यों बता रहे हैं। उपरोक्त सभी बातें तो आपको पता होगी, लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि प्यार और इसके इजहार में सिर्फ लाल रंग का ही इस्तेमालल क्यों होता है।

लाल रंग में निहित है प्यार की भावना

लाल रंग में, प्यार की एक मजबूत भावना निहित है। जब भी हम अपने दिल की बात करते हैं, तो हमारे मन में एक लाल रंग के दिल का ख्याल आता है। इंसान को प्यार भी दिल की ही वजह से होता है। ऐसे में लाल रंग का गुलाब प्यार के इजहार का काफी पुराना और खूबसूरत तरीका है। लाल रंग प्यार का प्रतीक सदियों से माना जा रहा है और आगे भी माना जायेगा।

इसके पीछे के ऐतिहासिक कारण के बारे में बात करें, तो यूनान और इब्रान के लोग लाल रंग को प्रेम का प्रतीक मानते आये हैं। बताया जाता है कि 13वीं शताब्दी में एक कविता प्रकाशित हुई थी, जिसका शीर्षक था रोमन डे ला रोज़।

इसका अर्थ है द रोमांस ऑफ़ द रोज़। इस कविता में लेखक ने उस स्त्री के लिये एक लाल गुलाब की खोज के बारे में अपनी भावनाएं व्यक्त की थी, जिससे वह प्यार करता था औऱ तब से ही गुलाब और लाल रंग को प्यार का प्रतीक माना जाने लगा।

लाल रंग को इच्छा और पैशन से भी संबंधित माना गया है। लाल रंग इंसान की उत्सुकता और ऊर्जा की भावना को भी व्यक्त करता है। कई धर्मों में लाल रंग को काफी पवित्र और भाग्यशाली माना गया है और इसी वजह से सुहागनें अपने पति के लिये श्रृंगार स्वरूप लाल रंग के वस्त्र पहनती हैं। अपनी शादी में दुल्हन लाल रंग का जोड़ा पहनती हैं।  

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें