I-Ticket और E-Ticket में क्या अंतर है? जानिए इन दोनों में से कौन सी टिकट जल्दी कंफर्म होती है

ट्रेन में सफर करने के लिए आपने भी कभी IRCTC से ऑनलाइन टिकट बुक जरूर किया होगा। वहा जब आप टिकट बुक करते हैं तो आपको टिकट टाइप में दो ऑप्शन मिलते हैं एक I-Ticket और दूसरा E-Ticket का। तो आज के इस लेख में हम जानेंगे कि ये दोनों क्या होते हैं, इनमे क्या अंतर होता है और कौन सी टिकट के जल्दी कन्फर्म होने के चान्सेस रहते हैं।

Confirm Train Ticket

बहुत सारे लोग ऑनलाइन टिकट बुक तो करते हैं, लेकिन उन्हें I-Ticket और दूसरा E-Ticket के बारे में कोई जानकारी नहीं होती है। इस वजह से वो यह भी नहीं जानते होंगे कि इन दोनों में से कौनसी टिकट सबसे जल्दी कंफर्म हो जाती है तो चलिए आज हम इसी के बारे में जानते हैं।

I-Ticket

तो सबसे पहले बात करते हैं E टिकट की। यह एक पूर्णतया ऑनलाइन टिकट है जिसमें बुक किया गया टिकट आपको SMS के जरिए प्राप्त होगी। इस टिकट के साथ यात्रा करने से यात्री को एक पहचान पत्र की आवश्यकता होगी, जिसे यात्रा के समय टीटी को दिखाना पड़ेगा।

E-Ticket

अब जानते आई टिकट क्या होता है। यह टिकट भी एक तरह का ऑनलाइन टिकट ही है जहां आपको टिकट का भुगतान ऑनलाइन ही करना पड़ेगा लेकिन टिकट की प्राप्ति आपको डाक के माध्यम से आपके घर पर होगी, जैसा कि PRS काउंटर से टिकट मिलता है। इसका मतलब कि आपने विंडो टिकट भी ले लिया और खुद को लाइन में लगे रहने की परेशानी से भी बचा लिया।

इसके अलावा इन दोनों में यह अंतर है कि e टिकट को आप यात्रा के एक दिन पहले तक भी बुक कर सकते हैं लेकिन आई टिकट को आपको यात्रा करने के तीन दिन पहले ही बुक करना होगा ताकि आप तक टिकट पहुंच सके। इसके साथ ही इसे कैंसल करने का भी एक रूल है। ई टिकट को आप ऑनलाइन कैंसिल कर सकते हैं जबकि आई टिकट को आपको PRS काउंटर पर जाकर ही कैंसिल करना होगा।

I-Ticket का क्या फायदा है?

अब आप सोच रहे होंगे कि फिर I-Ticket लेने का क्या फायदा। तो हम आपको बता दें कि इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि अगर आपका E-Ticket वेटिंग में रह जाता है तो आप ट्रेन में सफर नही कर सकते है। वहीं अगर आपका I-Ticket वेटिंग में रह जाता है तो आप उस टिकट के साथ सफर कर सकते हैं। क्योंकि ई टिकट वेटिंग में रह जाने से अपने आप कैंसल हो जाता है लेकिन आई टिकट के साथ ऐसा नही है।

अब रही बात कौन सी टिकट जल्दी कन्फर्म होती है तो हम आपको बता दें कि ऐसी कोई बात ही नही है कि E-Ticket जल्दी कन्फर्म होगा या फिर I-Ticket। किसी भी ट्रेन की टिकट उसमें उपलब्ध सीट के आधार पर उसके सिरियल नंबर के हिसाब से होती हैं।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें