SBI vs BOI: इन दोनो में से कौन सा बैंक Fixed Deposits पर दे रहा ज्यादा ब्याज? अभी कंफ्यूजन करें दूर

SBI vs BoB Fixed Deposits: अक्सर लोगों को फिक्स्ड डिपोजिट लेकर काफी कंफ्यूजन होने लगता है। लोग कंफ्यूजन में रहते हैं कि कौन से सरकारी बैंक में पैसा लगाया जाए जिससे आपकी टेंशन दूर हो जाए। फिक्स्ड डिपोजिट में एसबीआई और बैंक ऑफ बड़ौदा में कौन सा लोकप्रिय बैंक है इसमें अंतर है। इन बैंकों में निवेश करने से अधिक लाभ हो सकता है।

SBI vs BOI

हालांकि, BoB भी अच्छे ब्याज दर और सेवाएं प्रदान कर सकता है, इसलिए उपयुक्त बैंक चयन के पहले शर्तें और नियमों की समीक्षा करनी चाहिए। वर्तमान में State Bank of India और Bank of Baroda ग्रीन फिक्सड डिपॉजिट की सुविधा प्रदान कर रहे हैं। चलिए आपको बताते हैं कौन सा बैंक बेहतर है?

फिक्स्ड डिपोजिट में कौन सा बैंक है बेहतर? (SBI vs BoB Fixed Deposits)

कई सरकारी बैंक वर्तमान में ग्राहकों को अच्छे रिटर्न प्रदान कर रहे हैं, लेकिन यदि आपको सही बैंक का चयन करने में कंफ्यूजन है, तो आपकी यह टेंशन दूर करने के लिए आज हम आपको मदद करेंगे। वर्तमान में State Bank of India और Bank of Baroda ग्राहकों को ग्रीन फिक्सड डिपॉजिट की सुविधा प्रदान कर रहे हैं। निवेश से पहले आपको सभी बैंकों की वर्तमान ब्याज दरों की जाँच करनी चाहिए।

एसबीआई और बैंक ऑफ बड़ौदा दोनों ही ग्राहकों को ग्रीन टर्म डिपॉजिट की सुविधा प्रदान कर रहे हैं। अब आइए देखें कि किसमें अधिक फायदा होगा। ग्रीन डिपॉजिट स्कीम में, वरिष्ठ नागरिकों को 1111 दिन और 1777 दिन की अवधि वाले डिपॉजिट पर 7.15% और 2222 दिन की अवधि वाले डिपॉजिट पर 7.40% ब्याज मिल रहा है। सामान्य नागरिकों को 1111 दिन और 1777 दिन की एफडी पर 6.65% और 2222 दिन की अवधि में मैच्योर होने वाली रिटेल डिपॉजिट पर 6.40% ब्याज मिल रहा है।

कौन ले सकता है योजना का फायदा?

इस विशेष जमा योजना में, निवासी, गैर-व्यक्ति, और एनआरआई ग्राहक सभी निवेश कर सकते हैं। यह योजना ब्रांच नेटवर्क के माध्यम से भी उपलब्ध है। इसके अलावा, यह स्कीम अभी तक डिजिटल चैनल जैसे योनो और इंटरनेट बैंकिंग पर उपलब्ध नहीं है, लेकिन जल्द ही ऑनलाइन भी उपलब्ध हो सकती है। बैंक ऑफ बड़ौदा भी ग्राहकों को अर्थ ग्रीन टर्म डिपॉजिट की सुविधा प्रदान कर रहा है। इस स्कीम का उद्देश्य क्वॉलिफाइंग एंवायरमेंटल इनिशिएटिव्स और सेक्टर्स को निधि देना है।

ग्राहकों को 5000 रुपये से लेकर 2 करोड़ रुपये तक की राशि के लिए यह सुविधा उपलब्ध है। इस स्कीम में विभिन्न अवधियों पर विभिन्न ब्याज दरें हैं, जैसे कि एक साल के लिए 6.75%, 18 महीने के लिए 6.75%, 777 दिनों के लिए 7.17%, 1111 दिनों के लिए 6.4%, 1717 दिनों के लिए 6.4%, और 2201 दिनों के लिए 6.4% लगता है।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें