रेलवे प्लेटफार्म पर TTE कभी नहीं करता टिकट चेक, जानिए फिर किसके हाथों में होती है ये जिम्मेदारी

पूरे देश में रेलवे यात्रा का सबसे सुलभ, आरामदायक व सस्ता साधन माना जाता है। लाखों की संख्या में प्रतिदिन लोग रेल यात्रा करते हैं। अभी भी ज्यादातर लोगों के लिए यात्रा के लिए रेल पहली पसंद है। सच पूछा जाए तो लंबी दूरी की यात्रा के लिए रेल यातायात का सबसे बेहतर विकल्प है।

Indian Railways

भारतीय रेलवे ने यात्रियों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए अनेक बंदोबस्त किए हैं। अतः यात्रियों का यह नैतिक कर्तव्य बनता है कि कंफर्म और वैधानिक टिकट के साथ ही रेल में यात्रा करें। यदि हम ऐसा नहीं करते हैं तो हमारे ऊपर जुर्माना लगता है और आर्थिक दंड भरना पड़ता है।

ट्रेन के अंदर जो अधिकारी हमारा टिकट चेक करता है उसे TTE कहते हैं। आपने देखा होगा कि अक्सर रेलवे प्लेटफार्म पर हमारी टिकट चेक होती है। प्रायः लोग इन्हें TTE समझते हैं पर यह एक गलत अवधारणा है। प्लेटफार्म पर टिकट चेक करने वाला अधिकारी TC कहलाता है। आज के आलेख में हम आपको TTE और TC के विषय में अंतर और उससे संबंधित भ्रांति को स्पष्ट करेंगे।

किसे कहते हैं TTE?

भारत में हर रोज लगभग 2 करोड़ से ज्यादा लोग रेल से यात्रा करते हैं पर इसमें से कुछ लोग नैतिकता को ताक पर रखकर बिना टिकट भी यात्रा करते हैं और इस फिराक में रहते हैं कि कोई उन्हें पकड़ ना पाए तथा वह अपनी यात्रा मुफ्त में कर लें।

अतः रेलवे ने इस तरह बिना टिकट यात्रा करने वाले लोगों को पकड़ने के लिए TTE को तैनात किया है जो प्रत्येक यात्री ट्रेन में लोगों के टिकट चेक करते हैं। इस दौरान यदि कोई यात्री बिना टिकट यात्रा करते हुए पकड़ा जाता है तो उसे TTE जुर्माना लगाने के लिए सरकारी तौर पर अधिकृत होता है। आपकी जानकारी के लिए बता दे कि भारतीय रेलवे के एक नियम के अनुसार रात्रि 10:00 बजे के बाद TTE टिकट चेक नहीं कर सकते।

कहां नियुक्त होता है TC?

रेलवे द्वारा यात्रियों के टिकट प्लेटफार्म पर भी चेक किए जाते हैं और यह कार्य TC पद पर नियुक्त व्यक्ति करता है। अमूमन एक ट्रेन में लगभग 24 डिब्बे होते हैं तथा ये ट्रेन कई स्टेशनों पर रूकती है। ऐसे में कभी-कभी ऐसा होता है कि कुछ लोग बिना टिकट के एक स्टेशन पर चढ़ते हैं और अभी TTE उन तक पहुंच भी नहीं पाता कि वह दूसरे स्टेशन पर उतर जाते हैं। प्रायः कम दूरी की यात्रा करने वाले लोग बिना टिकट यात्रा करने की गैर कानूनी हरकत करते हुए पकड़े जाते हैं।

भारतीय रेलवे ने इसी तरह के बिना टिकट यात्रियों को पकड़ने के लिए हर स्टेशन के प्लेटफार्म पर TC की नियुक्ति कर रखी है जो यात्रियों के टिकट चेक करता है और बिना टिकट वाले यात्री पर जुर्माना करने के लिए अधिकृत होता है। इस प्रकार रेलवे द्वारा ट्रेन के भीतर व बाहर (प्लेटफार्म), बिना टिकट यात्रा करके भारतीय रेलवे को नुकसान पहुंचाने वालों के लिए TTE व TC के पद नियुक्त किए गए हैं।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें