ये है दुनिया की सबसे अधिक गर्म जगह, जहां पर कुछ ही मिनटों में पानी बन जाता है भाप, उसके आस-पास भी नहीं जाता कोई इंसान

गर्मी के मौसम में कई बार लोगों का जीना दूभर हो जाता है। चिलचिलाती धूप की वजह से लोग अपने घरों से बाहर निकलने से हिचकिचाते हैं। दोपहर की जानलेवा गर्मी और लू की वजह से स्कूल बंद कर दिए जाते हैं। गर्मी का यह प्रचंड रूप कई बार बढ़ता ही जाता है, जिस वजह से लोगों को बहुत ज्यादा परेशानी होती है।

World Hottest Place

लेकिन आज हम इस आर्टिकल में दुनिया की ऐसी गर्म जगहों के बारे में आपको बताने जा रहे हैं, जहां की गर्मी में मोमबत्ती मिनटों में पिघल जाती है। उन जगहों पर दूर-दूर तक लोग दिखाई नहीं पड़ते हैं, क्योंकि वहां पर पानी को भाप बनने में थोड़ा भी समय नहीं लगता है। तो चलिए उन जगहों के बारे में जानते हैं।

1. डेथ वैली – कैलिफोर्निया

जब दुनिया की सबसे गर्म जगह के बारे में बात की जाती है तो डेथ वैली का नाम सबसे पहले लिया जाता है। अमेरिका के कैलिफोर्निया में स्थित डेथ वैली का औसतन टेंपरेचर 35 से 42 डिग्री तक का होता है। आप यह जानकर दंग रह जाएंगे कि डेथ वैली में एक बार टेंपरेचर 57.6 डिग्री तक पहुंच गया था। वहां के प्रचंड गर्मी का कारण यह है कि सूरज की गर्मी यहां के वैली के हवाओं के बीच फंस जाती है। आसपास के रेगिस्तान यहां के टेंपरेचर को और भी बढ़ा देते हैं।

2. फ्लेमिंग माउंटेन – चीन

चीन का फ्लेमिंग माउंटेन दुनिया के सबसे गर्म जगहों में से एक है। वैज्ञानिकों के अनुसार यहां का तापमान 50 डिग्री सेल्सियस के आस पास रहता है। खबरों की माने तो साल 2008 में इस जगह का टेंपरेचर 66.8 डिग्री को छू गया था। इस वजह बसे गर्मी के मौसम में उसके आसपास भी लोग नहीं जाते हैं।

3. लूट रेगिस्तान – ईरान

रेगिस्तान में प्रायः प्रचंड गर्मी पड़ती है। ईरान के लूट रेगिस्तान भी प्रचंड गर्मियों के लिए मशहूर है। उन जगहों पर इतनी गर्मी पड़ती है कि वहां पर दूर-दूर तक न कोई पौधा दिखाई पड़ता है न ही कोई जीव। यहां पर जीवन असंभव है। आपको बता दें कि नासा ने साल 2003 से लेकर साल 2010 तक इस जगह का निरीक्षण किया था। उस दौरान इस जगह का टेंपरेचर 77 डिग्री सेल्सियस के करीब पाया गया था।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें