ये है भारत का सबसे अमीर किसान, हर साल 2 करोड़ रुपये की करता है कमाई, सिर्फ 5 एकड़ से शुरू की थी खेती

हमने देश और दुनिया के जाने कितने अमीर लोगों के बारे में पढ़ा व सुना होगा जिनमें से अधिकांश लोग बिजनेसमैन होते हैं, कई बार प्रॉपर्टी डीलर्स व अन्य लोगों के नाम भी ऐसे लोगों के बीच में आ जाते हैं। लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि एक किसान भी इन अमीर लोगों की श्रेणी में आ सकता है! वह भी भारत के किसान! पर ये सत्य है।

India's richest farmer

भारतीय किसानों ने अपनी मेहनत,लगन व सूझ बूझ का परिचय देकर असंभव को संभव कर दिखाया है। आज इस आर्टिकल में हम आपको कुछ ऐसे ही भारतीय किसानों के बारे में बताने जा रहे हैं जो कई अमीर व्यापारियों की श्रेणी में आकर देश का गौरव बढ़ा रहे हैं।

रामशरण वर्मा

भारतीय अमीर किसानों की लिस्ट में सबसे पहला नाम है उत्तर प्रदेश के दौलतपुर में रहने वाले रामशरण वर्मा का जिन्होनें 1990 में केवल 5 एकड़ जमीन के साथ खेती शुरू की थी। और आज उनके पास 200 एकड़ की जमीन है जिस पर यह खेती करते हैं। साल 2019 में इन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पद्मश्री अवार्ड से सम्मानित भी किया गया। रामशरण वर्मा ज्यादातर सब्जियों की खेती करते हैं और इनका वार्षिक टर्नओवर भी 2 करोड रुपए तक का है।

रमेश चौधरी

अमीर किसानों की लिस्ट मे दूसरे स्थान पर राजस्थान के रमेश चौधरी हैं जो जयपुर के रहने वाले हैं। इनके पास तीन पाली हाउस और एक ग्रीन हाउस है। पाली हाउस में रमेश टमाटर और खीरे की खेती करते हैं और साथ ही ग्रीन हाउस में फूलों की। इसके साथ ही साथ रमेश मक्के की भी खेती करते हैं। श्री रमेश का सालाना टर्नओवर लगभग 2 करोड रुपए का है।

प्रमोद गौतम

तृतीय स्थान पर काबिज श्री प्रमोद गौतम खेती शुरू करने से पहले ऑटोमोबाइल इंजीनियर थे और एक बड़ी कंपनी में अच्छी खासी नौकरी करते थे। किंतु 2006 में उन्होंने अपनी नौकरी छोड़ दी और 26 एकड़ जमीन के साथ खेती शुरू की। शुरुआत में उन्होंने हल्दी और मूंगफली की खेती की जिसमें उन्हें भारी नुकसान हुआ फिर बाद में उन्होंने संतरा, अंगूर, केला, नींबू, अमरूद जैसे फलों की बागवानी शुरू की। जिससे इन्हें अच्छा खासा मुनाफा होने लगा। इसके बाद प्रमोद गौतम ने एक दाल मिल की स्थापना भी की जिसमें दाल की प्रोसेसिंग और पॉलिश की जाती है

सचिन काले

चौथे स्थान पर रहने वाले छत्तीसगढ़ के सचिन काले भी खेती की शुरुआत करने से पहले नौकरी किया करते थे लेकिन साल 2014 में इन्होंने भी नौकरी छोड़ दी और इनोवेटिव एग्रईलआइफ सलूशन प्राइवेट लिमिटेड नामक एक कंपनी की शुरुआत की। यह कंपनी किसानों को लेकर कांट्रैक्ट फार्मिंग करती है और इसी कंपनी के साथ सचिन अच्छा खासा पैसा कमा रहे हैं। बात अगर सचिन काले के सालाना टर्नओवर की की जाए तो वो लगभग ढाई करोड रुपए है।

हरीश धन देव

पांचवें स्थान पर हरीश धन देव हैं जो राजस्थान के रहने वाले हैं। खेती की शुरुआत करने से पहले हरीश भी एक इंजीनियर थे। इन्होंने भी अपनी नौकरी छोड़कर खेती की शुरुआत की। सबसे पहले हरीश ने एलोवेरा की खेती की, उसके बाद वह एलोवेरा को प्रोसैस्ड भी करने लगे, और आज देखते ही देखते वे लगभग 100 एकड़ पर एलोवेरा की खेती करने लगे हैं और इनका सालाना टर्नओवर भी लगभग 2 करोड रुपए है।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें