इस अभिनेत्री ने पहले पति को दिया तलाक, फिर शादीशुदा एक्टर के साथ किया रोमांस, आज उसकी बेटी बॉलीवुड की टॉप एक्ट्रेस है

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

बॉलीवुड पर राज करने वाली 80-90 के दशक की मशहूर अभिनेत्री रेखा आज किसी परिचय की मोहताज नहीं हैं। उन्होंने अपने दम पर अपना नाम कमाया और आज इज्जत से अपनी जिंदगी जीती हैं। हालांकि, रेखा की मां, जो खुद एक एक्ट्रेस रही हैं, ने अपनी जिंदगी में काफी दुख देखा। वे कभी अपने सच्चे प्यार को अपना हमसफर नहीं बना पायीं।  

Rekha Mother Pushpavalli

1926 में जन्मीं पुष्पावल्ली ने 40 से अधिक फिल्मों में अभिनय किया। अपने पहले पति को छोड़ पुष्पावल्ली ने शादीशुदा एक्टर जेमिनी गणेशन को दिल दिया, जिनसे उन्हें दो बेटियां भी हैं। एक रेखा हैं, जो बॉलावुड की आइकन रही हैं, जबकि दूसरी बेटी राधा हमेशा लाइमलाइट से दूर ही रहीं। राधा ने शुरूआत में कुछ तमिल फिल्मों में काम किया था, लेकिन फिर उन्होंने इंडस्ट्री से दूरी बना ली।

फिल्म मिस मालिनी (1947) से पुष्पावल्ली को काफी प्रसिद्धी मिली और दक्षिण भारतीय फिल्म उद्योग में एक आइकन थीं। पुष्पावल्ली ने 9 साल की उम्र में फिल्म उद्योग में अपना करियर शुरू किया। उन्होंने संपूर्ण रामायणम (1936) में सीता की भूमिका निभाई। उस वक्त वे काफी फेमस हुआ करती थी। बताया जाता है कि पुष्पावल्ली ने अपनी पढ़ाई पूरी नहीं की, क्योंकि वह हमेशा शूटिंग करती थी और केवल प्राथमिक शिक्षा पूरी की।

पहले पति को छोड़ शादीशुदा अभिनेता को दिया दिल

पुष्पावल्ली ने 1940 में आई.वी. रंगाचारी नाम के एक वकील से शादी की थी। हालांकि, उनकी ये शादी बहुत लंबे समय तक नहीं चली और दोनों अलग-अलग रहने लगे। पुष्पावल्ली की आय का एकमात्र स्रोत उनका अभिनय था, जिस वजह से उन्होंने अपना काम कभी नहीं छोड़ा।

Pushpavalli

मिस मालिनी के सेट पर 1947 में पुष्पावल्ली की जेमिनी गणेशन से मुलाकात हुई, जो उस वक्त तमिल जगत के फेमस एक्टर हुआ करते थे। उसके बाद उन्हें फिल्म चक्रधारी (1948) में भी देखा गया था। खबरों की मानें, तो जेमिनी गणेशन और पुष्पावल्ली दोनों उस समय विवाहित थे, लेकिन फिर भी एक-दूसरे को दिल दे बैठे।

दोनों नहीं कर पाए एक दूसरे से शादी

1995 में पुष्पावल्ली के पार्टनर जेमिनी गणेशन ने मशहूर एक्ट्रेस सावित्री से शादी की। पहले के दिनों में वैध था कि एक हिंदू पुरुष एक से अधिक पत्नियां रख सकता था। पुष्पावली हालांकि, जेमिनी से से शादी नहीं कर सकती थी, क्योंकि उस समय महिलाओं के लिए तलाक की अनुमति नहीं थी। जेमिनी के साथ पुष्पावल्ली को दो बेटियां हुई – रेखा और राधा।

उनकी आखिरी फिल्म 1969 में बंगारू पंजाराम थी। फिल्म में पुष्पावल्ली को बहुत छोटी भूमिका दी गई थी। कई रिपोर्ट्स में जिक्र किया गया है और रेखा ने अपने कुछ इंटरव्यूज में भी जिक्र किया है कि पुष्पावल्ली बहुत खुश थी कि रेखा एक मशहूर एक्ट्रेस बन गई थी और उसे उन पर बहुत गर्व था। पुष्पावली के कुल 5 बच्चे थे, जिनमें से दो बेटियां जेमिनी के साथ थीं। मद्रास में मधुमेह के कारण 1992 में पुष्पावल्ली की मृत्यु हो गई।

Leave a Comment

error: Alert: Content selection is disabled!!