30 दिनों के अंदर 10 डिजिट का ये मोबाइल नंबर हो जाएगा बंद, TRAI ने उठाया बड़ा कदम, आप भी चेक करें अपना नंबर

TRAI यानी की Telecom Regulatory Authority of India की तरफ से बहुत बड़ी अपडेट आ रही हैं। 10 डिजिट वाले मोबाइल नम्बरों को बंद करने को लेकर TRAI ने बहुत ही बड़ा फैसला लिया हैं। और इससे किसको कितना फर्क पड़ने वाला हैं और ट्राई ने ये फैसला क्यों लिया हैं, ये समझेंगे आज हम डिटेल्स में।

TRAI Block 10 Digit Number

आपको बता दें कि ट्राई ने नहीं सिर्फ 10 डिजिट वाले इन नंबरों को बंद करने का फैसला लिया है बल्कि इसके लिए एक डेडलाइन भी जारी कर दिया है। 30 दिनों के भीतर इन 10 डिजिट वाले नंबरों को बंद करना पड़ेगा और जो ऐसा नहीं करेगा उसके ऊपर कड़ी कार्रवाई भी की जाएगी। चलिए समझते हैं कि आखिर यह मामला क्या है।

दरअसल आपने भी कई बार यह देखा होगा कि आपके मोबाइल पर बार-बार इन 10 डिजिट वाले नंबरों से कॉल आता रहता है। और जब आप इस कॉल को रिसीव करते हैं तब आपको पता चलता है कि यह नंबर तो किसी कंपनी की तरफ से किया गया हैं या फिर प्रमोशनल कॉल हैं या फिर ऐसे ही कोई मेसेज हैं।

हालांकि टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया की तरफ से जो गाइडलाइंस है उसे कोई भी कंपनी फॉलो नहीं कर रही है। क्योंकि अगर वह उन की गाइडलाइंस को फालो करते तो गाइडलाइन में ऐसा कहा गया है कि स्पेशल नंबर जितने भी टेलीकॉम ऑपरेटर्स  है उन्हें एक स्पेशल नंबर दिया जाता है।

जो कि उन्हें जितने भी टेलीकॉम ऑपरेटर हैं उन्हें जो भी प्रमोशनल कॉल करने होते हैं या फिर मैसेजेस करने होते हैं वह उस नंबर के थ्रू से उनको करना होता है। यह स्पेशल नंबर 10 डिजिट के नहीं होते हैं। इससे कॉल आते ही यूजर्स को पता चल जाता है कि यह कॉल किसी टेलीकॉम कंपनी की तरफ से किया गया है। अब यह उस यूजर पर डिपेंड करता है कि उन्हें वह कॉल रिसीव करना है या फिर नहीं करना है।

लेकिन यहीं पर बहुत सारी टेलिकॉम कंपनियां ऐसी हैं जो आपको 10 डिजिट के मोबाइल नंबर से कॉल करती हैं। ताकि आपको पता ना चले कि वह कॉल किसकी तरफ से किया गया है और आप उनको रिस्पॉन्ड करें। आपकी इसी परेशानियों को दूर करने के लिए ट्राई ने बहुत बड़ा फैसला लिया है।

और इसीलिए ट्राई ने ऐसी टेलीकॉम कंपनियों को 30 दिन का डेडलाइन दे दिया है। और उन्हें बोला गया है कि उन्होंने जो भी 10 डिजिट के मोबाइल नंबर ले रखे हैं जिससे वह प्रमोशनल कॉल करते हैं, मैसेजेस करते हैं, उनको उन्हें बंद करना होगा। यदि वह एसा नहीं करते हैं तो ट्राई उन पर कड़ी कार्यवाही करेगी।

हालांकि जितनी भी टेलीमार्केटिंग कंपनियां है उनको ट्राई के इस फैसले से बहुत ही बड़ा झटका लगेगा। लेकिन यूज़र्स जो इस तरह के कॉल से परेशान हो रखे थे, बार-बार इस तरह के कॉल को रिसीव कर करके गए थे, काफी परेशान हो रहे थे, उनको ट्राई के इस फैसले से बड़ी राहत मिलेगी। अब देखना यह है कि टेलीकॉम ऑपरेटर और टेलीमार्केटिंग कंपनियां पर, ट्राई के इस फैसले का कितना असर पड़ता है।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें