लिवर खराब होने से पहले दिखने लगते हैं ये संकेत, समय रहते इन 4 चीजों का रखें ध्यान, फिर हो जाएंगे स्वस्थ

हमारे शरीर के हर एक अंग का अपना एक अहम कार्य है। किसी भी अंग के बीमारी से ग्रस्त होने पर पूरे शरीर के कार्य बाधित हो जाते हैं। इसी तरह हमारे लिवर भी हमारे शरीर के महत्वपूर्ण अंगों में से एक है, जो हमारे द्वारा खाये गये भोजन को पचाने में अहम भूमिका निभाता है और साथ ही खराब अवशेषों को शरीर से बाहर निकालता है।

liver damage

हालांकि, कुछ बुरी आदतों की वजह से लिवर की बीमारियां होने का खतरा बना रहता है। आज की इस लेख में हम आपको लिवर की बीमारियों के लक्षण तथा ये किस वजह से होते हैं? इस तरह के कई सवालों के जवाब आपको मिलने वाले है ताकि सही समय पर आप सावधान हो जाए और अपने लिवर को खराब होने से बचा पाए।

लिवर की बीमारियों के कुछ साधारण लक्षण

त्वचा व आंखों का पीलापन, यूरीन का रंग गहरा हो जाना, मल में खून आना, एड़ियों और पैरों में सूजन, बेचैनी होना, उल्टी होना, भूख ना लगना, थकावट, खुजली आदि शामिल हैं। ये लक्षण सामान्यतया लिवर के फैटी होने, हेपाटाइटिज, जेनेटिक कंडिशन, ऑटोइम्यून, ट्यूमर, सिरोसिस, या लिवर फेलर तक के लक्षण हो सकते हैं।

हालांकि, अगर कुछ बुरी आदतों को बदल दिया जाये और कुछ अच्छी आदतें व्यवहार में लायी जायें, तो लिवर से जुड़ी इन गंभीर बीमारियों से बचा जा सकता है। आइये जानते हैं कैसे…..

1. शराब या एल्कोहल का सेवन करें बंद

अगर आपको शराब या एल्कोहल का सेवन करने की आदत है, तो इसे आज ही बदल दें। एल्कोहल हमारे लिवर को अत्याधिक नुकसान पहुंचा सकता है। एक्सपर्ट्स के अनुसार स्वस्थ वयस्कों में से महिलाएं दिन में एक ड्रिंक और पुरुष दिन में दो ड्रिंक तक ले सकते हैं, लेकिन इससे ज्यादा मात्रा आपके शरीर को नुकसान पहुंचायेगी।

2. इन चीजों से बरतें सावधानी

हमेशा हाइजीन का ध्यान रखें। अगर आपके शरीर के किसी भाग पर टैटू या पियर्सिंग (नाम या कान में छेद) करवाते हैं, तो हमेशा ऐसी जगह चुनें, जहां साफ सफाई का पूरा ध्यान रखा जाता हो।

3. दवाएं लेते वक्त सावधानी बरतें

दवाओं का सीधा असर लिवर पर हो सकता है, इस लिये डॉक्टर द्वारा लिखी हुई या ना लिखी हुई दवा तभी लें, जब जरूरत हो। कई लोगों की आदत होती है कि थोड़ा सा दर्द होते ही पेनकिलर ले लेते हैं, लेकिन इससे भी लिवर पर असर पड़ता है। इस लिये जितना हो सके दवाओं की उचित खुराक लें। होमियोपैथिक और एलोपैथिक दवाओं को एक साथ लेने से पहले अपने चिकित्सक की सलाह जरूर लें।

4. त्वचा का ध्यान रखें

कीटनाशकों और अन्य जहरीले रसायनों का उपयोग करते समय, ग्लव्स, लंबी बाजू के कपड़े, टोपी और मास्क का प्रयोग जरूर करें। ऐसा करने से आप अपना लिवर खराब होने से बचा सकते हैं और हमेशा स्वस्थ रह सकते हैं।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें