भारत सरकार ने दी बड़ी खुशखबरी, अब इन लोगों को देश में कहीं नहीं देना पड़ेगा टोल टैक्स

आजकल वाहन चालकों के लिए सड़क पर निकलते ही सबसे बड़ा पहाड़ होता है टोल टैक्स। किसी भी यात्रा पर निकलते ही हमारे सामने टोल टैक्स की एक बड़ी राशि आकर खड़ी हो जाती है। जैसे कि दिल्ली से लखनऊ तक के सफर में ही हमें तीन बार टोल टैक्स देना पड़ता है।

Toll Tax

लेकिन भारत सरकार द्वारा एक लिस्ट जारी की गई है जिसमें 25 कैटेगरी के लोगों को पूरे देश में कहीं भी टोल टैक्स देने की आवश्यकता नहीं है जिसमें विधायक सांसद के साथ अन्य कई सरकारी नौकरी वाले शामिल हैं।

इसके साथ-साथ लाश ले जा रही गाड़ियों से भी टोल टैक्स नहीं वसूला जाता है। हर गाड़ी से अलग-अलग टोल टैक्स लिया जाता है जैसे कि बस और ट्रक भारी वाहन होने के कारण उनसे ज्यादा टैक्स लिया जाता है, वहीं कार से इन दोनों के मुकाबले कम टैक्स लिया जाता है।

आज कल लोग बड़ी गाडिय़ों पर छोटी गाडिय़ों का फास्टैग लगाकर घपला कर रहे हैं। फास्टैग न लगवाने पर दोगुना चार्ज वसूला जाता है। आज इस आलेख में हम आपको बताएंगे कि सरकार द्वारा जारी लिस्ट में किन 25 श्रेणियों के वाहनों से टोल टैक्स नहीं लिया जता।

इन कैटेगरी की गाड़ियों को रखा गया है टोल टैक्स फ्री

करीब एक दशक पहले नौ श्रेणियों के वाहनों पर कोई टोल टैक्स नहीं होता था जिनकी संख्या आज बढ़कर 25 श्रेणियों तक हो गई है। केंद्र सरकार द्वारा जारी लिस्ट के मुताबिक जिन वाहनों से नहीं लिया जाता कोई भी टोल टैक्स उसमें राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, मंत्रियों से लेकर सांसद और जज-मजिस्ट्रेट सहित बड़े-बड़े अधिकारियों के नाम शामिल हैं।

विभिन्न मंत्रालयों के अधिकारी निजी यात्रा के दौरान भी टोल टैक्स का भुगतान नहीं करते। इसके अलावा रक्षा, पुलिस, फायर फाइटिंग, एंबुलेंस, शव वाहन, चुनिंदा राज्य और केंद्र सरकार के अधिकारी, मजिस्ट्रेट, सचिव, विभिन्न विभागों के सचिव, राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारी शामिल हैं।

फास्टैग होने के बाद भी हो रही धांधली

15 फरवरी 2021 में सरकार ने सभी टोल प्लाजा पर फास्टैग अनिवार्य कर दिए हैं। लेकिन उत्तर प्रदेश के कई ऐसे मामले सामने आए हैं जिसमें लोग छोटी गाड़ियों का फास्टैग बड़ी गाड़ियों में लगवाकर निकल रहे हैं जिसकी वजह से सरकार को भारी नुकसान का सामना उठाना पड़ रहा है।

हाल ही में नेशनल हाईवे अथारिटी ऑफ इंडिया के अधिकारियों की जांच में पता चला कि टोल पार करने वाली गाड़ी दूसरी है और फास्टैग किसी और का लगा हुआ है। ऐसे में लगभग 300 रुपए से 500 रुपए की टैक्स चोरी हो जाती है। इसके अलावा आज भी टोल प्लाजा पर बिना टैक्स दिए गाड़ियों के निकल जाने की खबर आती रहती है।

error: Alert: Content selection is disabled!!
WhatsApp चैनल ज्वाइन करें