दुनिया के इन 8 देशों में नहीं है एक भी मस्जिद, भविष्य में भी नहीं है बनने की उम्मीद, जानिए उन देशों के नाम

किसी भी धर्म के लोगों के लिए उनके पूजनीय ईश्वर के रहने का स्थान काफी पवित्र होता है। हिंदुओं के लिये मंदिर, मुस्लिमों के लिये मस्जिदद, सिखों के लिये गुरूद्वारे और इसाइयों के लिये चर्च। ये धर्मस्थल इन्हें मानने वाले लोगों के लिये काफी मायने रखते हैं और लगभग हर देश, शहर या गांव में मौजूद हैं।

Mosque

मस्जिद, जो मुसलमानों के लिए एक बेहद ही पवित्र स्थान है, जहां वे इबादत करते हैं। दुनिया के कई देशों में बड़े-बड़े मस्जिद मौजूद हैं, यहां तक कि गैर मुस्लिम देशों में भी, लेकिन हमारे आज के इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे देशों के बारे में बताने वाले हैं, जहां एक भी मस्जिद मौजूद नहीं है।

1. मोनाको

मोनाको ऐसे पहला देश है, जहां के किसी भी कोने में एक भी मस्जिद नहीं है। ये देश पश्चिमी यूरोप में स्थित है। यहां मुख्य रूप से कैथोलिक धर्म को मान्यता प्राप्त है। इसके अलावा और भी कई धर्मों को स्वतंत्रता प्राप्त है, लेकिन यहां एख भी मस्जिद नहीं है। मोनाको में पांच रोमन कैथोलिक पैरिश चर्च हैं। यहां की 83.2 प्रतिशत आबादी इसाई हैं।

2. वेटिकन

इस लिस्ट में अगला नाम वेटिकन का है। वेटिकन समुदाय का बहुमत कैथोलिक है। यह रोम के केंद्र में स्थित है। यहां आज तक एक भी मस्जिद की स्थापना नहीं हुई है।

3. उरुग्वे

दक्षिण अमेरिका के दक्षिण पूर्व में स्थित इस देश में मुस्लियों की आबादी ही नहीं है और साथ ही यहां एक भी मस्जिद स्थापित नहीं है। हालांकि, अगर यहां कोई मुस्लिम धर्म का व्यक्ति आता है, तो मिस्र का दूतावास उन्हें प्रार्थना स्थल की सुविधा मुहैया कराता है, जहां वे प्रार्थना कर सकते हैं।

4. साओ टोम और प्रिंसिपे

अफ्रीका के पश्चिमी भूमध्यरेखीय तट से कुछ दूर अटलांटिक महासागर में स्थित इस देश की प्रयुक्त भाषा पुर्तगाली है। यहां की 95 प्रतिशत आबादी ईसाई धर्म का पालन करती है। यहां भी एक भी मस्जिद अब तक स्थापित नहीं हुआ है।

5. स्लोवाकिया

स्लोवाकिया मध्य यूरोप में एक पहाड़ी देश है। ये देश उत्तर में पोलैंड, दक्षिण में हंगरी, पूर्व में यूक्रेन, दक्षिण पश्चिम में ऑस्ट्रिया और पश्चिम में चेक गणराज्य से घिरा है। यहां भी एक भी मस्जिद नहीं है। स्लोवाकिया उन यूरोपीय देशों की लिस्ट में आता है, जहां इस्लाम धर्म के खिलाफ कड़े कानून हैं।

6. इस्टोनिया

इस्टोनिया मुसलमानों की सबसे छोटी आबादी वाले यूरोपीय देशों में से एक है। वर्तमान में देश में कोई आधिकारिक मस्जिद नहीं है। देश में कम आबादी वाले मुसलमान आमतौर पर एस्टोनियाई राजधानी शहर तेलिन में स्थित तुराथ इस्लामिक कल्चरल सेंटर में नमाज अता करते हैं।

7. सैन मारिनो

सैन मैरिनो दुनिया के सबसे छोटे देशों में से एक है, जो इटली से घिरा हुआ है। सैन मैरिनो में मुसलमानों की आबादी कम है, जिस वजह से देश में कोई मस्जिद नहीं है। यहां के मुसलमान अक्सर पड़ोसी देश इटली में स्थित फोर्ली और रेवेना मस्जिदों में जाते हैं।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें