दुनिया का एकमात्र गांव जहां पर सिर्फ इंसान नहीं, बल्कि पशु-पक्षी भी अंधे है, उस गांव के रहस्य जानकर लोग रह जाते हैं दंग

दुनिया खूबसूरत चीज़ो से भरी हुई है और खूबसूरती से भरी इस दुनिया को देखने के लिए हमे आंखों की जरूरत पड़ती है। बिना आंखों के जीवन कितना कष्टमय होता है इसे बताने की जरूरत नही है। किसी घर में अगर एक व्यक्ति भी अंधा हो तो अन्य लोगों को भी परेशानी झेलनी पड़ती है।

Mysterious Tiltepec Village in Mexico

लेकिन क्या हो अगर किसी गांव के सभी लोग अंधे हो? इंसान तो इंसान, बल्कि यहा के जीव जंतु भी अंधे हो? जी हां, सुनने में यह भले ही अजीब लगता हो लेकिन रहस्य से भरी इस दुनिया में एक ऐसी भी जगह है, जहा के इंसान से लेकर जीव जंतु सभी अंधे हैं। आज हम आपको उसी जगह के बारे में बताने वाले हैं।

इस गांव में मनुष्य के साथ-साथ पशु-पक्षी भी अंधे है

प्रकृति की बनाई यह दुनिया काफी रहस्यमयी है और हम जिस रहस्यमयी जगह की बात कर रहे है वह मेक्सिको के प्रशांत महासागर के क्षेत्र में स्थित है और इस गांव का नाम है टिलटेपक। नाम की तरह यहा की घटनाएं भी अजीब है।

टिलटेपक नाम के इस गांव में तकरीबन साठ से सत्तर झोपड़ियां मौजूद हैं। जिसमें अलग अलग परिवार के करीब तीन सौ लोग रहते हैं। यहा के लोगों के घरों में न तो बिजली होती है और न ही कोई खिड़की। बिजली तो दूर की बात है, यहा के लोग दिए तक का इस्तेमाल नही करते।

ऐसा सब लोग अपनी इच्छा से नही बल्कि मजबूरी में करते हैं क्योंकि इस गांव के सब लोग अंधे हैं। इसके अलावा कुत्ते, बिल्ली और अन्य सभी जानवर जो यहा रहते हैं, वे सभी अंधे हैं। यहा के लोगों के दिन की शुरुआत पक्षियों की आवाज़ से होती है और शाम को जब पक्षी बोलना बंद कर देते हैं तो ये लोग अपने घर की ओर रवाना हो जाते हैं। 

वैसे तो ऐसी ज़िंदगी कष्ट से भरी है लेकिन शायद इन लोगों को इसकी आदत हो चुकी है, क्योंकि सरकार ने उनको अन्य जगह बसाने की कोशिश की थी, लेकिन अन्य जलवायु में इनके स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव पड़ रहा था। इसलिए बाद में सरकार ने इनको इन्ही के हाल में छोड़ना बेहतर समझा।

अब आपके मन मे यह सवाल आ रहा होगा कि आखिर इस गांव में ऐसा क्या है जो सभी लोग अंधे है, क्या यह गांव श्रापित है? तो हम आपको बता दे कि इसे लेकर यहा के लोगों का यह कहना है कि जब कोई बच्चा यहा जन्म लेता है तो वह बिल्कुल नार्मल होता है लेकिन जन्म के कुछ समय बाद उनकी आंखों की रोशनी चली जाती है जिसका कारण वह एक पेड़ को मानते हैं।

इस पेड़ का स्थानीय नाम लाभजुएला है, जिसे देखने के बाद इंसान से लेकर पशु पक्षी, सभी अंधे हो जाते हैं। बाद में वैज्ञानिकों की टीम ने इस पेड़ पर रिसर्च किया और उन्हें इस पेड़ में ऐसा कुछ नहीं मिला जिसे देखने के बाद कोई अंधा हो जाए। लेकिन लगातार रिसर्च के बाद उन्हें इसके पीछे का कारण समझ में आ गया।

वैज्ञानिकों का कहना है कि यहां के लोगों के अंधेपन का कारण कोई पेड़ नही बल्कि एक ज़हरीली मक्खी है। इस मक्खी के काटने के बाद एक खतरनाक कीटाणु शरीर में प्रवेश कर जाता है, जो आंखों की नसों को पूरी तरह से बंद कर देता है। इस मक्खियों की संख्या यहा अन्य जगह के मुकाबले ज्यादा है। बस इसी वजह से यहा के इंसानो से लेकर पशु पक्षी तक सभी अंधे हैं।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें