अब पुरानी से पुरानी कब्ज और शुगर से मिलेगा छुटकारा, सिर्फ इस पेड़ के पत्ते का करना होगा सेवन

हमारे देश में आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति बहुत लंबे समय से चली आ रही है। आयुर्वेद में जड़ी बूटियों के माध्यम से बहुत सी बीमारियां को दूर की जा सकती हैं। जड़ी बूटियां बीमारियों में राहत दिलाने में मदद करती हैं। आज हम आपको वरुण के पौधे के बारे में बताएंगे, जो एक प्रचलित जड़ी बूटी के नाम से जाना जाता है।

Varun's plant

जिसका इस्तेमाल आयुर्वेद में कई तरह की बीमारियों को दूर करने के लिए किया जाता है। वरुण का पौधा स्वाद में कसैला होता है, लेकिन इसकी तासीर गर्म होती है, जिस वजह से ये वात दोष के निवारण के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। 

करे मेटाबॉलिज्म बूस्ट

आयुर्वेद विशेषज्ञों का मानना है कि वरुण पित्त दोष को दूर करता है। इसके इस्तेमाल से लीवर से जुड़ी परेशानियां दूर करने में मदद करती मिलती है, इसके अलावा शरीर के अतिरिक्त बिलीरुबिन को शरीर से बाहर निकलने में ये पौधा हमारी मदद करता है, जिससे शरीर का मेटाबॉलिज्म रेट बूस्ट होता है और वजन कंट्रोल रहता है। मेटाबॉलिज्म बूस्ट करने के लिए आप वरुण की छाल से काढ़ा तैयार करके पी सकते हैं। 

किडनी की पथरी को करें दूर

किडनी की पथरी को दूर करने में वरुण हमारी मदद कर सकता है, आयुर्वेदाचार्य का कहना है कि वरुण की छाल का इस्तेमाल करने से मूत्र मार्ग की पथरी को कम किया जा सकता है। अगर नियमित रूप से वरुण की छाल का j

काढ़ा तैयार करके पिया जाए, तो धीरे-धीरे करके किडनी की पथरी खत्म हो जाती है। बड़े साइज की पथरी को छोटा करने में भी वरुण की छाल का काढ़ा बहुत मदद करता है। 

गाउट की समस्या से दिलाये राहत

वरुण में एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं, जो सेहत के लिए काफी फायदेमंद हैं। गाउट की समस्या में राहत पहुंचाने में ये काफी मदद करता है। ये वात दोष को दूर करता है, जिससे गाउट की परेशानी को दूर किया जा सकता है। गाउट से ग्रसित लोगों में सूजन और जलन की परेशानी होती है, जिसे वरुण की छाल का इस्तेमाल करके दूर किया जा सकता है। वरुण की छाल में थोड़ा ओलिव ऑयल मिक्स करके इसका पेस्ट तैयार करना होगा और पेट के प्रभावित हिस्से पर लगाना होगा, इससे आपकी समस्या में काफी लाभ मिलेगा। 

कब्ज दूर करें

कब्ज की परेशानी को दूर करने में वरुण की छाल काफी फायदेमंद होती है, इसमें पाए जाने वाले औषधीय गुण मल को मुलायम बनाते हैं और आसानी से बावल मूवमेंट करने में मदद करते हैं। इसके अलावा इस पौधे में भोजन को पचाने वाले गुण पाए जाते हैं, जिससे भोजन आसानी से पचता है और कब्ज की समस्या नहीं होती। वरुण के फूलों से बनने वाली चाय को पीकर आप कब्ज की समस्या को दूर कर सकते हैं। 

हम आपको यही सलाह देंगे कि इस पौधे का इस्तेमाल करने से पहले किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक से परामर्श कर लें, ताकि वो सही मात्रा में पौधे के इस्तेमाल करने की सलाह दें और आप किसी तरह के कु-प्रभाव से बच सके। 

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें