इस कार ने Alto की नाक में किया दम, हर महीने खा रही सेल्स, मजबूती के मामले में Creta से भी निकला आगे

हाल के वर्षों में कारों की कीमतों में काफी बढ़ोतरी हुई है। कई कंपनियां साल में तीन से चार बार कीमतें बढ़ा चुकी हैं। महंगाई की मार ने बजट कारों को भी नहीं बख्शा है, क्योंकि सस्ती कारों की कीमतें अप्रत्याशित रूप से बढ़ गई हैं। इस प्रवृत्ति ने उपभोक्ताओं को कारों में भारी मात्रा में निवेश करने के प्रति अधिक सतर्क बना दिया है।

Tata Tiago

आजकल लोग सिर्फ कार के माइलेज को लेकर ही नहीं, बल्कि उसके सेफ्टी फीचर्स और ओवरऑल क्वालिटी को लेकर भी चिंतित रहते हैं। नतीजतन, बजट सेगमेंट में भी उपभोक्ता न्यूनतम 3 या 4 सुरक्षा रेटिंग वाली कारों को चुन रहे हैं। उपभोक्ता व्यवहार में इस बदलाव से एक विशेष कंपनी को सीधे फायदा हुआ है।

भारतीय बाजार में मारुति सुजुकी की भूमिका

मारुति सुजुकी भारतीय बाजार में सबसे किफायती कार, ऑल्टो K10 पेश करती है, जिसकी शुरुआती कीमत ₹3.99 लाख (एक्स-शोरूम) है। हालांकि, बेस वेरिएंट में सीमित फीचर्स के कारण, उपभोक्ता अक्सर मिड या टॉप वेरिएंट चुनते हैं, जिनकी कीमत ₹5.35 लाख (एक्स-शोरूम) से शुरू होती है। हालांकि ऑल्टो K10 निस्संदेह एक लागत प्रभावी विकल्प है, लेकिन यात्री सुरक्षा और आराम के मामले में यह ऐतिहासिक रूप से पिछड़ गया है।

फिर भी, बाजार में एक नया खिलाड़ी उभरा है जो ऑल्टो K10 के लगभग समान कीमत पर बेहतर फीचर्स और सुरक्षा के साथ बेहतर डिजाइन वाली कार पेश करता है। यह कार पेट्रोल के साथ सीएनजी का भी विकल्प देती है। इस अनोखे विक्रय प्रस्ताव के कारण इसकी बिक्री में वृद्धि हुई है और इसने ऑल्टो K10 को पीछे छोड़ दिया है।

आम आदमी के लिए एक कार

विचाराधीन कार को अक्सर ‘कॉमन मैन टैंक’ के रूप में जाना जाता है क्योंकि यह 4-स्टार ग्लोबल एनसीएपी सुरक्षा रेटिंग के साथ आती है। इसके फीचर्स, स्पेसिफिकेशन और क्वालिटी को जनता ने खूब सराहा है। विशेष रूप से, यह उन कारों की तुलना में अधिक सुरक्षित है जिनकी कीमत इससे अधिक है।

आंकड़ों की तुलना करें तो यह कार हुंडई क्रेटा एसयूवी से भी ज्यादा सुरक्षित है, जिसकी कीमत 12-15 लाख रुपये है। क्रेटा ग्लोबल एनसीएपी क्रैश टेस्ट में केवल 3-स्टार रेटिंग हासिल करने में सफल रही।

टाटा टियागो का उदय

टाटा मोटर्स अपनी सस्ती और सुरक्षित कार टाटा टियागो के साथ बाजार में तहलका मचा रही है। ₹5.60 लाख से ₹8.20 लाख तक की एक्स-शोरूम कीमत के साथ, टियागो लागत और सुरक्षा के बीच एक अच्छा संतुलन प्रदान करता है। पिछले महीने, जुलाई 2023 के बिक्री आंकड़ों को देखने पर, हम देख सकते हैं कि मारुति ऑल्टो K10 की 7,099 इकाइयाँ बिकीं, जबकि Tata Tiago ने इसी अवधि में 8,982 इकाइयाँ बेचकर इससे बेहतर प्रदर्शन किया।

निष्कर्ष

मुद्रास्फीति, सुरक्षा सुविधाओं के बारे में बढ़ती जागरूकता और बेहतर गुणवत्ता की चाहत सहित विभिन्न कारकों के कारण भारतीय बाजार में सस्ती और सुरक्षित कारों की मांग बढ़ रही है। इस प्रवृत्ति ने कंपनियों को ऐसी कारों को नया रूप देने और पेश करने के लिए प्रेरित किया है जो न केवल पैसे के लिए मूल्य प्रदान करती हैं बल्कि यात्री सुरक्षा को भी प्राथमिकता देती हैं।

टाटा मोटर्स जैसे खिलाड़ियों के मैदान में आने से, बाजार अधिक प्रतिस्पर्धी हो रहा है, जिससे अंततः उपभोक्ताओं को लाभ हो रहा है। जैसे-जैसे कार खरीदार अधिक समझदार और सुरक्षा के प्रति जागरूक हो जाते हैं, कार निर्माता अपना खेल बढ़ाने और बेहतर विकल्प प्रदान करने के लिए मजबूर हो जाते हैं।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें