‘मुझे सच स्वीकार करने में कोई शर्म नहीं है।’, वनडे क्रिकेट में खराब रिकॉर्ड पर सूर्यकुमार यादव ने दिया बयान

वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज के दौरान सूर्यकुमार यादव की फॉर्म भारतीय टीम के लिए चिंता का एक बड़ा कारण थी। वनडे में सूर्या का प्रदर्शन उस स्तर का नहीं रहा है जिसकी सभी को उनसे उम्मीद है। हालांकि, वेस्टइंडीज के खिलाफ तीसरे टी20 मैच में उन्होंने शानदार बल्लेबाजी की और 83 रन बनाकर मैच जीत लिया। इस पारी के बाद सूर्या ने अपने वनडे फॉर्म के बारे में भी खुलकर बात की और स्वीकार किया कि उनके आंकड़े वास्तव में खराब हैं।

Suryakumar Yadav

सूर्यकुमार यादव को अब तक भारतीय टीम के लिए 26 एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैचों में खेलने का मौका मिला है। इस दौरान उन्होंने 24 पारियों में 24.33 की औसत से सिर्फ 511 रन बनाए हैं और उनके बल्ले से दो अर्धशतकीय पारियां देखने को मिली हैं। दूसरी ओर, सूर्यकुमार यादव अब आईसीसी रैंकिंग के अनुसार टी20 इंटरनेशनल में नंबर-1 बल्लेबाज हैं।

वनडे में अपने निराशाजनक रिकॉर्ड को लेकर सूर्यकुमार यादव ने कहा, ”हम सभी ईमानदारी की बात करते हैं और आपको भी करनी चाहिए, लेकिन यह कैसे बेहतर हो सकता है, इस पर भी चर्चा होनी चाहिए।” मैंने इस बारे में रोहित और राहुल सर से बात की और उन्होंने मुझे बताया कि यह एक ऐसा प्रारूप है जिसमें मैं अक्सर नहीं खेलता, इसलिए मुझे इसका अधिक अभ्यास करना चाहिए।

यह एक कठिन प्रारूप है

सूर्यकुमार यादव ने अपनी टिप्पणी में कहा, “हम टी20 प्रारूप में खेलने के आदी हो गए हैं।” वनडे एक कठिन प्रारूप है जिसमें आपको अलग तरह से बल्लेबाजी करनी होगी।’ यदि आपके विकेट तेजी से गिर रहे हैं, तो आपको टेस्ट प्रारूप की तरह सावधानी से बल्लेबाजी करनी चाहिए। उसके बाद आपको टी20 फॉर्मेट में खेलने की कोशिश करनी चाहिए। इसलिए मैं उस तरीके से खेलने का प्रयास कर रहा हूं जिस तरह से टीम प्रबंधन ने अनुरोध किया है।

सूर्यकुमार यादव को अब तक जितने भी वनडे मैच खेलने का मौका मिला है, लेकिन उसमे उनका बल्ला पूरी तरह खामोश रहा है। वहीं टी20 क्रिकेट में वो हमेशा अच्छी बल्लेबाजी करते दिखे हैं, इससे साफ होता है कि सूर्यकुमार वनडे से बेहतर टी20 क्रिकेट में बेहतर बल्लेबाजी करते हैं। इसी वजह से उन्हें इस फॉर्मेट में लगातार खेलने का मौका दिया जाता है।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें