युवराज से बेहतर ऑलराउंडर को नहीं दिया मौका तो पहुंचा जिम्बाब्वे, अब वनडे को बनाया टी20, मात्र 14 गेंदों में ठोका 70 रन

युवराज सिंह का नाम भारतीय क्रिकेट इतिहास के सबसे बेहतरीन ऑलराउंडर में आता है, क्योंकि उन्होंने अपने क्रिकेट करियर के दौरान कई शानदार पारियां खेली थी। इसके अलावा समय-समय पर वो महत्वपूर्ण विकेट भी चटकाया करते थे। इसी वजह से युवी लंबे समय तक टीम इंडिया का हिस्सा रहे हैं।

Sikandar Raza and Yuvraj Singh

दुनिया में ऐसे बहुत सारे क्रिकेटर है जिनके अंदर बेहतर करने की काबिलियत थी, लेकिन उन्हें मौका नहीं दिया गया। इस वजह से उनका करियर पूरी तरह से बर्बाद हो गया। वहीं कुछ खिलाड़ी दूसरे देशों की शरण में चले गए और उन्ही के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट खेलने लगे। आज हम ऐसे ही एक क्रिकेटर के बारे में बात करने जा है जो युवराज जैसा ऑलराउंडर था, लेकिन उन्हें टीम में मौका नहीं मिला तो जिम्बाब्वे पहुंच गया।

इस खिलाड़ी को जाना पड़ा जिम्बाब्वे

जिम्बाब्वे क्रिकेट टीम के बेहतरीन ऑलराउंडर सिकंदर रजा को इस समय हर क्रिकेट फैंस अच्छी तरह जानते हैं, लेकिन उनकी जिंदगी से जुड़ी कहानियों के बारे में लोगों को कुछ भी मालूम नहीं है। सिकंदर रजा युवराज सिंह जैसा ऑलराउंडर है, क्योंकि वो अपनी टीम के लिए गेंद और बल्ले दोनों से शानदार प्रदर्शन करते हैं। इसी वजह से वो जिम्बाब्वे के लिए हर मैच खेलते नजर आते हैं।

सिकंदर रजा का जन्म 24 अप्रैल 1986 को पाकिस्तान के सियालकोट में हुआ था। उन्हें बचपन से क्रिकेट खेलने का शौक था, इस वजह से उन्होंने क्रिकेट खेलना शुरू किया। उसके बाद उन्होंने पाक की तरफ से अंडर-19 वर्ल्ड कप भी खेला, लेकिन इंटरनेशनल टीम में उन्हें मौका नहीं दिया गया। इस वजह से निराश होकर सिकंदर रजा जिम्बाब्वे चले गए और आज वो उसी के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट खेलने लगे।

मात्र 14 गेंदों में ठोक दिए 70 रन

इस साल भारत में वनडे विश्व कप होना है जिस के लिए 18 जून से कई टीमों के बीच क्वालीफायर मुकाबला खेला जाएगा। लेकिन उससे पहले जिम्बाब्वे और ओमान के बीच वार्म अप मैच खेला गया है, जिसमे सिकंदर रजा का बल्ला जमकर चला है। उस मैच में सिकंदर रजा मात्र 66 गेंदों पर 109 रन ठोक दिए।

अब आपके मन में एक सवाल चल रहा होगा कि सिकंदर रजा ने उस मुकाबले में 14 गेंदों पर 70 रन कैसे बना दिए? तो मैं आपको बता दूं कि उस शतकीय पारी के दौरान सिकंदर रजा के बल्ले से 7 चौके और 7 गगनचुंबी छक्के देखने को मिले हैं। अगर हम उनके चौके और छक्के दोनों को जोड़ देते हैं उन्होंने 109 में से 70 रन सिर्फ 14 गेंदों में बनाएं हैं।

ओमान के खिलाफ वार्म अप मैच में जिम्बाब्वे की टीम पहले बल्लेबाजी करती हुई 50 ओवर में 6 विकेट खोकर 365 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया। उसके जवाब में ओमान की टीम भी शानदार प्रदर्शन करते हुए 339 रनों तक पहुंच गई, लेकिन फिर भी उन्हें हार का सामना करना पड़ा। जिम्बाब्वे के खिलाफ मैच में ओमान के खिलाड़ियों ने जिस अंदाज में बल्लेबाजी की है उससे ऐसा लग रहा है कि आगे चलकर वो बड़ी-बड़ी टीमों को भी टक्कर देगी।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें