RO का पानी पीने वाले हो जाए सावधान, वरना हो सकती है ये गंभीर बीमारी, रिसर्च में हुआ बड़ा खुलासा

आजकल के समय में शायद ही कोई ऐसा करो जहां RO का पानी ना पिया जा रहा हो। वॉटर प्यूरीफायर लगवाना अब चलन में है, इसके पीछे कारण ये है कि महानगरों का पानी पीने लायक नहीं होता, लेकिन आपको बता दें कि RO का पानी पीने से आपकी सेहत खतरे में पड़ सकती है।

RO Water

विशेषज्ञों की माने तो RO से गंदगी के साथ-साथ पानी के मिनरल्स भी निकल जाते हैं और ये मिनरल्स हमारे शरीर के लिए बेहद जरूरी हैं। इनकी कमी से हड्डी, किडनी, लिवर, बीपी और दिल की बीमारी की समस्या हो रही है। 

RO का पानी पीने से हो सकती हैं ये स्वास्थ्य समस्याएं

स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है की पैकिंग वाला बोतल बंद RO का पानी पीने से आपके स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है, इसके लगातार सेवन से आपको हृदय संबंधी विकार, थकान, मानसिक कमजोरी, मांसपेशियों में ऐंठन और सर दर्द की समस्या हो सकती है। इसके अलावा RO का पानी पीने से शरीर में आयरन की कमी भी हो सकती है। इस तरह से देखा जाए तो लंबे समय तक RO के पानी का इस्तेमाल करने से मानव शरीर को भारी नुकसान पहुंच सकता है। 

क्या कहती है रिसर्च

शोध से पता चलता है कि जब RO पानी फिल्टर करता है तो इससे अच्छे मिनरल्स भी बाहर निकल जाते हैं। मशीन को अच्छे या बुरे मिनरल्स की पहचान नहीं होती, इसलिए इस तरह का पानी पीने से आपको नुकसान ज्यादा होता है। डॉक्टर RO के पानी को इस्तेमाल नहीं करने की सलाह देते हैं, लेकिन जहां पानी में टीडीएस की मात्रा बहुत ज्यादा है ऐसे क्षेत्रों में RO का पानी इस्तेमाल किया जा सकता है। अगर संभव हो तो पानी को शुद्ध करने के लिए क्लोरीन का इस्तेमाल किया जा सकता है, जिससे उसमें उपस्थित बैक्टीरिया नष्ट हो जाए और लाभदायक मिनरल्स बने रहे। 

RO नष्ट कर देता है पानी के पोषक तत्व

स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि पानी में कैल्शियम और मैग्नीशियम जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो RO से फिल्टर हो जाते हैं और पानी मिनरल्स से रहित हो जाता है। इस तरह का पानी पीने से आपके शरीर में नुकसान होने की संभावना और ज्यादा बढ़ जाती है। स्वास्थ्य विभाग NGT ने पूरे देश के सभी राज्यों से इस बात मांग की है कि जहाँ पर पानी का टीडीएस 500 से नीचे है, वहां RO पर प्रतिबंध लगाया जाए। RO लगाने से 70% पानी की बर्बादी भी होती है, अपनी लाइफ स्टाइल को अच्छा दिखाने की बजाय अपने स्वास्थ्य पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए।

जहां का पानी खराब है, वहीं पर RO लगाया जाना चाहिए। लंबे समय तक RO का पानी पीने से हमारे शरीर में कई गंभीर बीमारियां हो सकती हैं और आने वाली पीढियों को भी अगर हम RO का पानी पिला रहे हैं तो हम उनके दोस्त नहीं दुश्मन है क्योंकि बच्चे कमजोर और अस्वस्थ होंगे, इसलिए पानी के मिनरल्स भी शरीर के लिए उतने ही जरूरी होते हैं, जितनी अन्य cheej इनको बर्बाद ना करें पानी को शुद्ध करने के दूसरे विकल्पों का चुनाव करें। 

error: Alert: Content selection is disabled!!
WhatsApp चैनल ज्वाइन करें