‘जंगल’ से राजपाल यादव का करियर कैसे बदला? फिर बने कॉमेडी किंग, जानें एक्टर का फिल्मी सफर

Rajpal Yadav Filmy Career: बॉलीवुड के कॉमेडी एक्टर राजपाल यादव एक समय अपने करियर की शुरुआत में गरीबी से जूझ रहे थे। जब उनके पास ऑटो तक के पैसे नहीं थे। लेकिन उन्होंने अपनी अद्भुत प्रतिभा और मेहनत के जरिए ‘जंगल’ से निकल कर अपने करियर में मंगल की ऊंचाइयों को छू लिया। उनकी कहानी एक प्रेरणास्त्रोत है जो हर किसी को सपनों की पूर्ति के लिए प्रेरित करती है।

Rajpal Yadav

आज बॉलीवुड के दिग्गज कलाकार राजपाल यादव का जन्मदिन है, जिन्होंने अपनी शानदार कॉमेडी से लोगों का दिल जीता है। उनका जन्म 16 मार्च 1971 को उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले में हुआ था। उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा भी वहीं से प्राप्त की और बाद में एक नाटक थिएटर में काम करने लगे। चलिए आपको उनके फिल्मी करियर के बारे में विस्तार से बताते हैं।

कैसे शुरू हुआ राजपाल यादव का करियर? (Rajpal Yadav Filmy Career)

1992 में राजपाल यादव ने लखनऊ जाकर थिएटर ट्रेनिंग लेने का निर्णय लिया। वहाँ उन्होंने भारतेंदु नाट्य एकेडमी में प्रवेश लिया और दो साल तक ट्रेनिंग ली। फिर उन्होंने 1994 से 1997 तक दिल्ली के नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में शिक्षा प्राप्त की। उन्होंने 12वीं कक्षा की पढ़ाई पूरी की और फिर एक टेलरिंग अप्रेंटिस के रूप में नौकरी शुरू की, लेकिन अभिनेता बनने की ख्वाहिश के कारण वह नौकरी छोड़ दी।

साल 1999 में ‘दिल क्या करे’ फिल्म से राजपाल यादव ने अपना करियर शुरू किया। पहले दौर में छोटे रोल मिले, लेकिन ‘जंगल’ फिल्म में उन्होंने ‘सिप्पा’ का रोल किया जिससे उन्हें बहुत प्रसिद्धि मिली। उन्हें इस रोल के लिए फिल्मफेयर अवार्ड भी मिला।

राजपाल यादव की फिल्में (Rajpal Yadav Movies)

राजपाल यादव के करियर को ‘जंगल’ के बाद नई दिशा मिली। उन्होंने ‘कंपनी’, ‘कम किसी से कम नहीं’, ‘हंगामा’, ‘मुझसे शादी करोगी’, ‘मैं मेरी पत्नी और वो’, ‘अपना सपना मनी मनी’, ‘फिर हेराफेरी’, ‘चुप चुपके’ और ‘भूल भुलैया’ जैसी बहुत सारी सुपरहिट फिल्मों में काम किया। उनकी शानदार एक्टिंग से उन्होंने लोगों का दिल जीता। उन्हें अपने अभिनय के लिए कई अवॉर्ड मिले, लेकिन करियर की शुरुआत में उन्हें बॉलीवुड में पहचान बनाने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ी।

मुंबई में अपने कठिन दिनों को याद करते हुए राजपाल यादव ने कहा कि उनके लिए यहां की जिंदगी एक चुनौती भरी यात्रा थी। वह बोरीवली जाने के लिए ऑटो शेयर करते थे और कभी-कभी ऑटो के लिए पैसे भी नहीं होते थे। वे सफलता की तलाश में निकलते और अपनी तस्वीर साथ लेकर अगले कदमों की ओर बढ़ते थे।

एक्टर ने कहा कि जब जिंदगी मुश्किल होती है, तो मकसद आसान लगता है, और जब जिंदगी आसान लगती है, तो मकसद मुश्किल हो जाता है। राजपाल यादव की पहली शादी करुणा यादव से हुई थी, लेकिन उनकी पत्नी का देहांत बीमारी के कारण हो गया। उन्होंने फिर कनाडा की रहने वाली राधा यादव से दूसरी शादी की। दोनों की मुलाकात पहली बार कनाडा में हुई थी और उन्होंने साल 2003 में शादी की।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें