Property Documents: प्रॉपर्टी खरीदते समय सबसे पहले चेक करें ये डाक्यूमेंट्स, वरना आपके साथ हो सकता है धोखा

Property Documents Check: आज के समय में सही प्रॉपर्टी सही रेट में मिल जाए तो बहुत किस्मत की बात है। धोखाधड़ी इतनी बढ़ गई है कि लोग कुछ भी कागज बनाकर प्रॉपर्टी बेच देते हैं। इन चीजों से बचने के लिए अगर आप कोई प्रॉपर्टी खरीद रहे हैं तो कुछ डॉक्यूमेंट्स जरूरी होते हैं जिन्हें आपके पास होना जरूरी है। इन बातों का ख्याल आपको अच्छे से रखना चाहए जिसके बारे में हम आपको विस्तार में बताएंगे।

Property Documents

प्रॉपर्टी खरीदने या उसमें निवेश करने से पहले आपको जरूरी दस्तावेजों का निरिक्षण जरूर कर लेना चाहिए। अक्सर लोग ब्रोकर्स के भरोसे रहते हैं और बाद में काफी परेशानी होने लगती है। चलिए आपको बताते हैं कि प्रॉपर्टी खरीदने से पहले किन डॉक्यूमेंट्स की जांच जरूरी होता है?

प्रॉपर्टी खरीदते समय डॉक्यूमेंट्स का रखें ख्याल (Property Documents Check)

प्रॉपर्टी खरीदने से पहले उस संपत्ति को बेचने वाले टाइटल और ओनरशिप का वेरिफिकेशन करना जरूरी होता है। इसके बाद चेनल डॉक्यूमेंट्स भी चेक करें जिसमें प्रॉपर्टी किसे और किसे बेची है इसका पूरा ब्योरा लिखा होता है। जब भी आप कोई घर या फ्लैट खरीदते हैं तो पहले आपको ये चेक करना चाहिए कि उस संपत्ति पर किसी तरह का कोई मोर्गेज, बैंक लोन या कोई टैक्स बकाया तो नहीं है।

आपको एन्कम्ब्रन्स सर्टिफिकेट की भी जरूरत होगी जिसकी जानकारी उसमें होगी। अक्सर OC सर्टिफिकेट के बारे में बातें होती रहती हैं जिसका मतलब ऑक्यूपेंसी सर्टिफिकेट होता है। इसे प्रॉपर्टी खरीदते समय आपको बिल्डर से जरूर ले लेना चाहिए। ओसी से यह प्रमाणित हो जाता है कि कोई बिल्डिंग, नेशनल बिल्डिंग कोड का पालन करती है तो वो रहने या व्यवसाय करने लायक है या नहीं।

इस सर्टिफिकेट को स्थानीय विकास प्राधिकरण या नगरपालिका सरकारी तौर पर जारी करता है। तो जब भी घर, फ्लैट या कोई प्रॉपर्टी खरीदने जाएं तो बिल्डर या ब्रोकर से ओसी सर्टिफिकेट जरूर ले लें। प्रॉपर्टी खरीदने से पहले डेवलपर से NOC भी मांग लें जो सुनिश्चित करता है कि निर्माण के लिए अस्वीकृति की सूचना सुनिश्चित हो गई है।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें