पाकिस्तान से भी बुरा हो गया है इस देश का हाल, लोगों को खाना पड़ता है मिट्टी से बनी रोटियां, जानिए इसके पीछे की वजह

मनुष्य जीवन में जीवित रहने के लिए भोजन बहुत ही आवश्यक है क्योंकि बिना भोजन किए कोई भी ज्यादा दिनों तक जीवित नहीं रह सकता। तरह तरह के भोजन में अलग अलग प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं, जिससे हमें पोषण और ताकत मिलती है। इस दुनिया में कई तरह के लोग हैं, कुछ अमीर तो कुछ गरीब। भुखमरी के कारण रोजाना सैकड़ों लोग मर रहे हैं, इन लोगों को दो वक्त का खाना भी नसीब नहीं होता।

Clay Bread

कुछ लोग ऐसे हैं जिन्हें भोजन की कोई कदर नही है, हमेशा भोजन की बर्बादी करते रहते हैं, क्योंकि शायद उन्हें भोजन की कभी कोई कमी नही देखनी पड़ी होगी और वही कुछ लोग ऐसे भी हैं जो दो वक्त की रोटी के लिए भी तरस जाते हैं। ये तो खैर इस दुनिया के लिए आम बात है लेकिन अगर हम आपसे कहे कि इस दुनिया में एक ऐसी जगह भी है जहां के लोग अपनी भूख को मिटाने के लिए मिट्टी से रोटियां बनाकर खाते हैं।

इस देश के लोग खाते हैं मिट्टी की रोटी

सुनकर हैरानी हुई, लेकिन यह बात सौ प्रतिशत सच है। चलिए तो अब जानते हैं कि आखिर वह कौन सा ऐसा देश है जहा के लोग मिट्टी की रोटी खाते हैं और ऐसी क्या वजह है जिससे वे ऐसे गुजारा करते हैं। तो आपको बता दें कि गरीबी का ये मंजर है हैती गांव का, जो कैरेबियन सागर में स्थित है। ये एक अफ्रीकन देश है।

इस देश की हालत और बेबसी देख कर किसी की भी रूह कांप उठेगी और आंखे नम हो जाएंगी। जो लोग खाना बर्बाद करते हैं ये उन लोगों के लिए सबब है क्योंकि इस गांव के लोगों के लिए दो वक्त की रोटी के मायने ही कुछ और है। यहां के लोग रोटी तो खाते हैं लेकिन वो आटे से नही बल्कि मिट्टी से बनी होती हैं।

वैसे तो इस देश की ये हालत साल 2008 में आई महँगाई की वजह से है जब तेल की कीमतों में अचानक उछाल आया। इसके बाद साल 2010 में आये भूकंप ने यहां की हालत और भी बिगाड़ दी। इसके बाद से यहां के लोग ऐसी ज़िंदगी जीने के लिए मजबूर हैं। ये लोग मिट्टी में नमक और पानी मिला कर एक घोल तैयार करते हैं और फिर उसे धूप में सूखने के लिए छोड़ देते हैं। इन्हें खाकर ही यहा के लोग अपना गुजारा करते हैं।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें