ट्रेन से यात्रा करने वालों के लिए नई सुविधा की हुई शुरुआत, अब कोच तक जाने के लिए मिलेगी कार

मध्य रेलवे ने यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए मुंबई मंडल के नौ रेलवे स्टेशनों पर ईवी चार्जिंग की सुविधा शुरू कर दी है और यात्री इस सुविधा का भरपूर लाभ उठा रहे हैं मध्य रेलवे (CR) ने अपने नौ स्टेशनों पर इलेक्ट्रिक वाहनों (EVs) के लिए चार्जिंग पॉइंट पेश हैं। ये सुविधा बढ़ती यात्रियों की संख्या को ध्यान में रखते हुए शुरू की गयी है।

Railway free facility

अब इसे लेकर हर किसी के मन में तरह-तरह के सवाल उठ सकते हैं, क्योंकि रेलवे द्वारा यह नई सुविधा की शुरुआत की गई है। एक प्रश्न हर किसी के मन में चल रहा होगा कि रेलवे ने फिलहाल इसकी शुरुआत देश के किन-किन स्टेशनों पर की है तो चलिए अब हम इसके बारे में जानते हैं। ताकि आप भी उन स्टेशनों पर इसका लाभ ले सके।

इन स्टेशनों पर दी गयी ईवी चार्जिंग सुविधा

छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (CSMT), दादर, बायकुला, परेल, कुर्ला, लोकमान्य तिलक टर्मिनस, भांडुप, कल्याण और पनवेल में ईवी चार्जिंग सुविधा शुरू की गई है। खबरें हैं कि मध्य रेलवे की इस पहल से आगामी 2025 तक सभी नए वाहनों में 10 प्रतिशत योगदान देने वाले तरीके से ईवी को अपनाने में तेजी लाने के महाराष्ट्र सरकार के लक्ष्य को भी समर्थन मिलने की उम्मीद है।

सेंट्रल रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी, शिवाजी सुतार ने कहा, “मध्य रेलवे शहर में परिवहन के किसी भी अन्य साधन की तुलना में सबसे बड़ी संख्या में मुंबईकरों को सेवा प्रदान करता है। हमें गर्व है कि मुंबईकर हमारी सेवाओं को चुनते हैं, क्योंकि वे सस्ती और शहर में घूमने के सबसे तेज़ तरीके हैं। हमारे कई यात्री रेलवे स्टेशनों पर जाते हैं और अपने वाहनों को हमारे निर्धारित पार्किंग स्थान पर पार्क कर अपने कार्यालय जाते हैं।

हर यात्री के लिए सुविधा

इसलिए, ईवी कारों वाले हमारे परिसर में स्थित चार्जिंग पॉइंट से लाभान्वित होंगे। यह सुविधाएं उन लोगों के लिए भी हैं, जो हमारी ट्रेनों का उपयोग नहीं करते हैं, लेकिन जो प्रतिदिन इन स्टेशनों से गुजरते हैं और अपने घर के पास या काम पर जाने और वापस आने के दौरान चार्जिंग स्टेशन होने से लाभान्वित होंगे। अंत में, इन स्टेशनों में से कुछ लंबी दूरी की ट्रेनों को पकड़ते हैं। इनमें से कई लोग इन अक्सर एक घंटे या उससे अधिक दूर रहते हैं। इन कारकों को ध्यान में रखते हुए, हमने उन स्टेशनों पर सेवा शुरू की है, जहां स्थानीय और लंबी दूरी की ट्रेनें चलती हैं।”

भविष्य के लिए योजना

चूंकि यह भारतीय रेलवे के लिए गैर-किराया राजस्व होगा, इसलिए रेलवे प्रति यूनिट चार्ज 18 रुपये ले रहा है। इसके अलावा, CR के पास विस्तार योजनाएँ हैं, जो मोटर यात्री के लिए भी फायदेमंद होंगी। जानकारी मिली है कि दोपहिया वाहनों के लिए भी चार्जिंग पॉइंट लगाये जायेंगे।

वर्तमान में, प्रत्येक स्टेशन के पास इन स्टेशनों के प्रतीक्षा क्षेत्र में स्थित ईवी के लिए एक चार्जिंग पॉइंट है न कि पार्किंग स्थल पर। सीआर वर्तमान में उन स्टेशनों की तलाश कर रहा है, जहां जमीन की उपलब्धता उन्हें मेनलाइन, हार्बर लाइन और ट्रांस-हार्बर लाइन में एक चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने में सक्षम बनाएगी। इस प्रकार एक दिन में करीब 54 लाख यात्रियों को सेवा प्रदान की जायेगी।

error: Alert: Content selection is disabled!!
WhatsApp चैनल ज्वाइन करें