जिंदगी में कभी भी अपनी बेटी से न कहें ये 5 बातें, वरना आपकी बेटी पर पड़ेगा नकारात्मक प्रभाव, फिर रिश्ता होगा खराब

यूं तो माता-पिता के लिये बेटे और बेटी में कोई अंतर नहीं होता। माता पिता के लिये हर संतान एक बराबर है, लेकिन बेटियां अपने माता-पिता से कुछ ज्यादा ही अटैच्ड होती हैं। लड़कियों में भावनाओं का सागर होता है। उनके लिये हर बात काफी मायने रखती है, चाहे वह किसी ने भी कही हो।

Father and Daughter

माता पिता कभी अपने बच्चों से ऐसी बात नहीं कहना चाहते, जिससे कि उनकी भावनाएं आहत हों, लेकिन कई बार कुछ पैरेंट्स अपनी बेटी को लेकर लापरवाही कर बैठते हैं और उनसे कुछ ऐसी बातें कह देते हैं, जिसका उनके दिमाग पर अनुकूल असर नहीं पड़ता। बेटा हो या बेटी उनसे बात करते वक्त माता-पिता को संयम बरतना चाहिये, ताकि गुस्से में भी वे अपने बच्चों से बात करते वक्त कुछ गलत ना कह दें।

आज के इस लेख में हम आपको कुछ ऐसी बातें बताने वाले हैं, जिनका जिक्र पको भूल कर भी अपनी बेटी के सामने नहीं करना चाहिये, अन्यथा इसका उस पर विपरीत असर पड़ सकता है।

1. भाई को देखो, वो कितना अच्छा है

कई बार पैरेंट्स अपनी बेटी के गलती करने पर या उसके पढ़ाई पर ध्यान ना देने पर उनसे ये कह देते हैंकि तुम्हारे भाई को देखो वो कितना अच्छा है, लेकिन ये बात उसके दिमाग में गलत बातें पैदा कर सकती है। आपकी बेटी को लग सकता है कि आप उससे ज्यादा उसके बाई से प्यार करते हैं। आप इसी बात को उसे दूसरी तरह से समझा कर भी कह सकते हैं।

2. घर के कामों में ध्यान दो

सबसे पहले तो ये सोचना बंद कर दें कि सिर्फ लड़कियों को ही घर के काम आने चाहिये। ऐसे में कई पैरेंट्स कहते हैं कि बेटियों को घर के काम आने चाहिये, लेकिन जब वह देखेगी कि आप उसके भाई से ऐसी नहीं कह रहे हैं, तो उसका मन आहत हो सकता है। कोशिश करें कि आप हर चीजें दोनों को समान रूप से सिखायें, ताकि किसी के भी मन में आहत की भावना ना आये।

3. लड़कों की तरह बर्ताव मत करो

बच्चों को हमेशा वो करने देना चाहिये, जिनमें उन्हें खुशी मिले। खास कर बेटियों को कभी ये ना कहें कि तुम लड़कों की तरह बर्ताव मत करो। इससे वो हर्ट हो सकती है।

4. तुम तो ससुराल चली जाओगी

कई बार जब नौकरी आदि की बातें होती है, तो पैरेंट्स फ्यूचर के लिये बेटे पर डिपेंडेंट होने की बात कहते हैं और बेटियों से कह देते हैं कि तुम तो ससुराल चली जाओगी और ये बात उन्हें सबसे ज्यादा हर्ट करती है। लड़कियां भी अपने माता-पिता का बुढ़ापे में सहारा बनना चाहती हैं, इस लिये उनसे कभी भी ये बात नहीं कहनी चाहिये।

5. कम खाया करो

कई पैरेंट्स को अपनी बेटी की शादी की काफी चिंता होती है और वे समय समय पर उन्हें उनकी फिटनेस और सुंदरता को लेकर टोकते रहते हैं कि तुम अगर ज्यादा खाओगी तो मोटी हो जाओगी, फिर तुमसे कौन शादी करेगी। आपकी ये लाइन आपकी बेटी को काफी हद तक निराश कर सकती है।

error: Alert: Content selection is disabled!!
WhatsApp चैनल ज्वाइन करें