पाकिस्तान से भी कंगाल निकला ये मुस्लिम देश, पाक से भी कमजोर है उसकी करेंसी, खाना खरीदने के लिए भी बोरे में भरकर ले जाना पड़ता है पैसा

पिछले कुछ समय से दुनिया के कुछ देशों में आर्थिक हालात बद से बद्तर होते जा रहे हैं। पाकिस्तान में तो लोगों को दो वक्त का खाना तक मुश्किल से नसीब हो रहा है। इन देशों की मुद्रा अमेरिकी डॉलर के आगे कमजोर पड़ती दिखाई दे रही हैं। पाकिस्तान के साथ-साथ संलग्न ईरान का हाल तो और भी बुरा है, मानो यहां खाने के लिये एक बैग भर कर पैसा देना पड़ता हो।

Iran

खबरों की मानें, तो ईरान की मुद्रा दुनिया में सबसे कमजोर है और यहां आर्थिक संकट लोगों की जान लेने पर उतारू हो गया है। आज के इस लेख में हम आपको उन देशों के बारे में बताने वाले हैं जहां की मुद्रा की वैल्यू अमेरिकी डॉलर के मुकाबले सबसे ज्यादा कमजोर है।

ईरान

दुनिया की सबसे सस्ती मुद्रा ईरानी रियाल है। इसका अवमूल्यन 1979 में इस्लामी क्रांति के बाद शुरू हुआ, जब कई व्यवसायों ने अनिश्चित स्थिति के कारण देश छोड़ दिया। उसके बाद ईरान-इराक युद्ध और देश के परमाणु कार्यक्रम के कारण आर्थिक प्रतिबंध आए। ईरानी सरकार ने भी अपने नागरिकों के लिए विदेशी मुद्रा तक पहुंच को प्रतिबंधित कर दिया, जिससे काला बाजार में महत्वपूर्ण वृद्धि हुई। इन सभी ने अर्थशास्त्र को नुकसान पहुंचाया और मुद्रा का लगभग 400% अवमूल्यन किया।

2015 में, ईरानी सरकार ने प्रतिबंधों को कम करने के लिए अमेरिका, फ्रांस, ब्रिटेन, चीन, रूस और जर्मनी के साथ परमाणु समझौते पर हस्ताक्षर करने पर सहमति व्यक्त की। इसने स्थिति में सुधार किया और स्थानीय मुद्रा को स्थिर किया।

हालांकि, 2018 में अमेरिका ने दावा किया था कि ईरान अपने परमाणु कार्यक्रम को आगे बढ़ा रहा है। प्रतिबंधों को तेज किया गया, जिससे देश की विश्व कमोडिटी बाजारों तक पहुंच सीमित हो गई। ईरान अब अपने पेट्रोलियम का निर्यात नहीं कर सकता था, जिससे सालाना लगभग 69% आय होती थी। इसने अपने राष्ट्रीय बजट में एक महत्वपूर्ण घाटा बनाया। प्रतिबंधों में पेट्रोकेमिस्ट्री और धातु विज्ञान सहित अन्य उद्योग भी शामिल हैं।

मई 2020 तक, ईरान को तेजी से बढ़ती मुद्रास्फीति का सामना करना पड़ा, और इसकी मुद्रा का 600% अवमूल्यन हुआ। इसीलिए सरकार ने रियाल को टोमन में बदलने का फैसला किया और उसके अंकित मूल्य से चार शून्य घटा दिए, यानी 10,000 पुराने रियाल 1 तोमन में बदल जाएंगे।

  • 1 USD = 42,508 IRR (ईरानी रियाल से अमेरिकी डॉलर – आधिकारिक दर)।

वियतनामी

दुनिया की दूसरी सबसे सस्ती मुद्रा वियतनामी डोंग है। वियतनाम अभी भी एक केंद्रीकृत अर्थव्यवस्था से बाजार के लिए अपने कठिन रास्ते पर है और फलस्वरूप, इस देश की मुद्रा का आज बहुत अवमूल्यन हुआ है। हालांकि, विशेषज्ञ जोर देते हैं कि वियतनामी सरकार सही रास्ते पर जा रही है और जल्द ही अपने करीबी एशियाई पड़ोसियों के साथ पकड़ बना सकती है।

  • 1 USD = 23,376 VND (अमेरिकी डॉलर से वियतनामी डोंग)।
  • 1 EUR = 23,420 VND (यूरो से वियतनामी डोंग)।

इंडोनेशियाई रुपिया

पुरानी शैली के बैंकनोटों के कम मूल्य के कारण, 5 सितंबर, 2016 को राष्ट्रपति डिक्री द्वारा, 1 हजार से 100 हजार रुपये के मूल्यवर्ग में 7 नए बैंकनोट जारी किए गए। इंडोनेशिया दक्षिण पूर्व एशिया में एक आर्थिक रूप से स्थिर और काफी विकसित देश है। हालांकि, इसके पैसे की विनिमय दर बहुत कम है। देश के नियामक प्राधिकरण राष्ट्रीय मुद्रा को मजबूत करने के लिए सभी उपाय कर रहे हैं, लेकिन उनके सभी प्रयासों से केवल महत्वहीन परिवर्तन हुए हैं।

  • 1 USD = 15,038 IDR (अमेरिकी डॉलर से इंडोनेशियाई रुपिया)।
  • 1 EUR = 15,070 IDR (यूरो से इंडोनेशियाई रुपिया)।
error: Alert: Content selection is disabled!!
WhatsApp चैनल ज्वाइन करें