Indian Railway: अब ट्रेन टिकट बुक करने पर इन लोगों को मिलेगी 100 फीसदी छूट, जानिए क्या-क्या देना होगा दस्तावेज

Indian Railway: भारतीय रेलवे से यात्रा करना लाखों लोगों की दिनचर्या है। इन यात्रियों को रेलवे द्वारा विभिन्न सुविधाएं और सेवाएं प्रदान की जाती हैं। हालाँकि, जागरूकता की कमी के कारण, कई व्यक्ति लाभों का पूरी तरह से उपयोग करने में असमर्थ हैं।

Indian Railway

वास्तव में, भारतीय रेलवे विकलांग यात्रियों और गंभीर बीमारियों से पीड़ित यात्रियों को विशेष सुविधाएं और छूट प्रदान करता है। इस लेख में, हम इन पेशकशों के विवरण पर प्रकाश डालेंगे, यह सुनिश्चित करते हुए कि आपकी अगली यात्रा से पहले आपके पास सभी आवश्यक जानकारी हो।

गंभीर चिकित्सीय स्थितियों वाले मरीजों के लिए छूट

ट्रेन टिकट गंभीर चिकित्सीय स्थितियों वाले कई रोगियों को छूट प्रदान करते हैं। इसमें कैंसर, थैलेसीमिया, तपेदिक, एचआईवी/एड्स, एनीमिया, हीमोफिलिया के रोगी, हृदय की सर्जरी कराने वाले व्यक्ति और किडनी से संबंधित उपचार या डायलिसिस की आवश्यकता वाले रोगी शामिल हैं। ऐसे यात्रियों को न सिर्फ टिकट पर छूट मिलती है बल्कि अतिरिक्त सुविधाएं भी दी जाती हैं। दिव्यांग यात्री के साथ यात्रा करने वाला साथी भी इन लाभों के लिए पात्र है।

टिकट पर छूट प्राप्त करने के लिए आवश्यक दस्तावेज़

रियायती रेल टिकटों का लाभ उठाने के लिए कुछ दस्तावेजों की आवश्यकता होती है। जिस अस्पताल या चिकित्सा सुविधा में मरीज का इलाज किया जा रहा है, उसके जिम्मेदार चिकित्सा अधिकारी द्वारा जारी चिकित्सा प्रमाण पत्र के साथ विकलांगता प्रमाण पत्र भी प्रस्तुत करना होगा।

चलती ट्रेनों में चिकित्सा आपात स्थिति से निपटना

यदि यात्रा के दौरान किसी यात्री की तबीयत बिगड़ती है, तो वे सहायता के लिए 138 हेल्पलाइन नंबर पर कॉल कर सकते हैं। वैकल्पिक रूप से, यदि किसी कारण से हेल्पलाइन उपलब्ध नहीं है, तो वे 9794834924 पर संपर्क कर सकते हैं। ट्रेन टिकट चेकर्स (टीटीई) को चिकित्सा आपात स्थितियों पर प्रतिक्रिया देने के लिए भी प्रशिक्षित किया जाता है। वे तत्काल बुनियादी चिकित्सा सहायता प्रदान करने के लिए सुसज्जित हैं। विशेष रूप से, यात्रियों की भलाई सुनिश्चित करने के लिए प्रत्येक ट्रेन में एक डॉक्टर होता है।

सुगम यात्रा के लिए पूर्व तैयारी

अपनी रेल यात्रा शुरू करने से पहले, अच्छी तरह से तैयार होना आवश्यक है। सुनिश्चित करें कि भारतीय रेलवे द्वारा दी जाने वाली छूट और लाभों का लाभ उठाने के लिए आपके पास सभी आवश्यक दस्तावेज, विशेष रूप से चिकित्सा और विकलांगता प्रमाण पत्र हैं। चिकित्सा आपात स्थिति के मामले में सहायता के लिए हेल्पलाइन नंबर जानना महत्वपूर्ण हो सकता है। साथ ही, टिकट जांचकर्ता को किसी भी चिकित्सीय स्थिति के बारे में सूचित करें, ताकि आपातकालीन स्थिति में वे सक्रिय रह सकें।

निष्कर्ष

दिव्यांग यात्रियों और गंभीर चिकित्सा स्थितियों वाले लोगों के लिए सुविधाजनक और सुलभ यात्रा प्रदान करने की भारतीय रेलवे की प्रतिबद्धता सराहनीय है। ऐसे यात्रियों को दी जाने वाली छूट और सेवाएँ न केवल उनकी यात्रा को अधिक किफायती बनाती हैं बल्कि यात्री कल्याण और आराम के प्रति रेलवे के समर्पण को भी प्रदर्शित करती हैं। इन पेशकशों के बारे में जानकारी होने से उन लोगों के लिए यात्रा अनुभव में उल्लेखनीय वृद्धि हो सकती है जिन्हें इसकी सबसे अधिक आवश्यकता है।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें