IND vs WI: हार्दिक पांड्या की इन 4 गलतियों की वजह से दूसरा टी20 मैच हारा भारत, जानकर फैंस होंगे नाराज

IND vs WI: वर्तमान में भारत की तरफ से टी20 क्रिकेट में हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) कप्तान है और उन्ही की अगुवाई में टीम इंडिया वेस्टइंडीज की धरती पर 5 मैचों की टी20 श्रृंखला खेल रही है। इस सीरीज में दो मैच खेले जा चुके हैं, लेकिन उन दोनों मुकाबलों के दौरान भारत को हार का सामना करना पड़ा है।

hardik pandya

रविवार को इस सीरीज का दूसरा मुकाबला गयाना में खेला गया, जिसमे वेस्टइंडीज ने भारत को दो विकेट से हरा दिया। इसी के साथ मेजबान टीम मौजूदा श्रृंखला में 2-0 की बढ़त बना चुकी है। रविवार को खेले गए दूसरे टी20 मैच में टीम इंडिया के कप्तान हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) ने कई बड़ी गलतियां की है जिस वजह से वह मैच वेस्टइंडीज जीतने में कामयाब रही, तो चलिए आज हम हार्दिक की उन गलतियों के बारे में जानते हैं।

1. टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करना

हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) उस मुकाबले में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया, लेकिन यह निर्णय उनके लिए गलत साबित हुआ। उस मुकाबले में हार्दिक को पहले गेंदबाजी करना चाहिए था। अगर वो ऐसा करते तो वेस्टइंडीज को 150 रनों के अंदर रोका जा सकता था, जैसा पहले मैच में देखने को मिला था। उसके बाद भारत उस लक्ष्य को पीछा करते हुए जीत हासिल कर सकती थी, लेकिन हार्दिक ने ऐसा नहीं किया।

2. हार्दिक पांड्या की खराब बल्लेबाजी

इस श्रृंखला के दूसरे टी20 मैच में कप्तान हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) भी अच्छी बल्लेबाजी नहीं कर पाए। उस दौरान उन्होंने 18 गेंदों पर सिर्फ 24 रन बनाए। अगर उस मैच में हार्दिक अंत तक रुके रहते तो भारत का स्कोर 160 से लेकर 170 रनों तक जा सकता था, फिर टीम इंडिया वह मुकाबला जीत सकती थी। लेकिन कप्तान साहब खुद भी अच्छी बल्लेबाजी करने में नाकाम रहे।

3. अक्षर पटेल से गेंदबाजी ना करवाना

वेस्टइंडीज के खिलाफ उस मुकाबले के दौरान हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) ने अक्षर पटेल से एक भी ओवर गेंदबाजी नहीं करवाई। इस वजह से बहुत सारे फैंस सोशल मीडिया पर हार्दिक को ट्रोल कर रहे हैं, क्योंकि उनका कहना ही कि अगर अक्षर से गेंदबाजी नहीं करवानी थी तो प्लेइंग इलेवन में शामिल क्यों किया। अगर अक्षर पटेल को गेंदबाजी करने का मौका दिया जाता तो वो विकेट ले सकते थे, लेकिन हार्दिक ने ऐसा नहीं किया।

4. युजवेंद्र चहल से 4 ओवर क ना करवाना

युजवेंद्र चहल टीम इंडिया के सबसे अनुभवी गेंदबाज है जिन्होंने बड़े-बड़े विकेट चटकाए हैं, लेकिन फिर भी हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) ने उनसे सिर्फ 3 ओवर गेंदबाजी करवाई। उस दौरान चहल सिर्फ 19 रन देकर दो विकेट अर्जित किया। अगर चहल को चौथा ओवर गेंदबाजी करने का मौका दिया जाता तब वो एक और विकेट झटक सकते थे, फिर टीम इंडिया वह मुकाबला जीत सकती थी। लेकिन हार्दिक ने ऐसा नहीं किया, जिस वजह से उस मैच में भारत को हार का सामना करना पड़ा।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें