Old Pension Scheme: पुरानी पेंशन को लेकर सरकार बना रही नया प्लान, अब हर महीने हजारों रुपए होंगे फायदे

Old Pension Scheme: सरकारी कर्मचारियों के लिए एक बड़ी खबर सामने आ रही है। ओल्ड पेंशन योजना को लेकर केंद्र सरकार एक बड़ा कदम उठाने की तैयारी में है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सरकार पुरानी पेंशन योजना को फिर से चालू करने का प्लान बना रही है।

Old Pension Scheme

बता दें, जनवरी 2004 से पुरानी पेंशन व्यवस्था को सरकारी कर्मचारियों के लिए खत्म करके नए पेंशन सिस्टम (NPS) की शुरुआत हुई थी। इस नए पेंशन सिस्टम के लागू होने से पूरे देश में 2004 में विरोध शुरू हो गया था।

क्या थी ओल्ड पेंशन योजना?

पुरानी पेंशन योजना (ओपीएस) सरकारी कर्मचारियों के लिए एक सेवानिवृत्ति योजना थी जिसे 2004 में बंद कर दिया गया और इसकी जगह राष्ट्रीय पेंशन योजना (एनपीएस) ने ले ली। पुरानी पेंशन योजना के तहत सरकार साल 2004 से पहले कर्मचारियों को रिटायरमेंट के बाद एक निश्चित पेंशन देती थी।

यह पेंशन कर्मचारी के रिटायरमेंट के समय उनके वेतन पर आधारित होती थी। इस स्कीम में रिटायर हुए कर्मचारी की मौत के बाद उनके परिजनों को भी पेंशन दी जाती थी। ओपीएस सेवानिवृत्त सरकारी कर्मचारियों के लिए आय का एक गारंटीकृत और सुरक्षित स्रोत थी।

ओल्ड पेंशन योजना में क्या थी कमी?

ओपीएस का मुख्य नुकसान यह था कि यह सरकार पर भारी वित्तीय बोझ डालता थी, क्योंकि उसे अपने मौजूदा राजस्व से बड़ी संख्या में सेवानिवृत्त कर्मचारियों को पेंशन का भुगतान करना पड़ता था। ओपीएस कर्मचारियों को निवेश विकल्पों या निकासी सुविधाओं के मामले में कोई लचीलापन या विकल्प भी प्रदान नहीं करती थी। ओपीएस में गैर-सरकारी कर्मचारी भी शामिल नहीं थे, जो सरकारी कार्यबल का एक बड़ा हिस्सा थे।

क्या है खुशखबरी?

आपको बता दें कि जिस दिन से ओल्ड पेंशन योगना को बंद किया गया था, उसी दिन से ओल्ड पेंशन योजना को बंद किए जाने के बाद, राज्य और केंद्र के कर्मचारी पुरानी पेंशन को वापस लाने की मांग कर रहे हैं। कुछ राज्यों ने पहले से ही इसे वापस ले लिया है। इसलिए, केंद्रीय कर्मचारियों को भी इस योजना के लाभ के पात्र बनाने का एक मौका केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय ने दिया है।

इस वजह से केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय ने केंद्रीय कर्मचारियों को भी इसके लाभ के पात्र बनाने का एक मौका दिया है। केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय द्वारा जारी किये गए पत्र में बताया गया है कि 22 दिसंबर 2003 तक निकले सरकारी भर्ती विज्ञापनों के बाद, जनवरी 2004 के बाद भर्ती होने वाले लोगों को पुरानी पेंशन प्राप्त करने के लिए लगातार आवेदन आ रहे हैं।

इसलिए, 2003 तक के विज्ञापनों के आधार पर नौकरी प्राप्त करने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों को पुरानी पेंशन के लाभ का विचार किया गया है। इसके बाद इन्हें इसका विकल्प चुनने का मौका दिया गया है। यदि कोई व्यक्ति पुरानी पेंशन के तहत आवेदन करना चाहता है, तो उसे इसका विकल्प चुनना होगा।

हाल ही में जारी हुए नोटिफिकेशन के अनुसार, इस विकल्प का उपयोग 31 अगस्त 2023 तक ही संभव है। इस बदलाव में एक खास बात और है कि यदि एक बार किसी कर्मचारी ने निर्णय लिया है कि वह पुरानी पेंशन योजना को ही चुनना चाहता है, तो उसे नई पेंशन योजना में को बाद में वापस चुनने की अनुमति नहीं होगी।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें