Post Office ने देशवासियों को दी खुशखबरी, अब इस योजना से हर गरीब बनेगा लखपति, जानिए कैसे?

हम में से ज्यादातर लोग अपनी आय के एक हिस्से को बचत के रूप में निवेश करना चाहते हैं ताकि भविष्य में एक अच्छा जीवन बिना किसी आर्थिक समस्या के बिताया जा सके। आम जनता को अपनी पूंजी के निवेश व बचत को प्रोत्साहन देने के लिए पोस्ट ऑफिस ने कुछ विशेष प्रकार की मासिक आय योजना शुरू की है जिसमें एकमुश्त निवेश करने के बाद हर माह एक निश्चित रकम इनकम के तौर पर प्राप्त कर सकते हैं।

Post Office

आज के आलेख में हम आपको पोस्ट ऑफिस (Post Office) की एक ऐसी ही मासिक आय योजना की जानकारी देने जा रहे हैं जिसमें अपनी पत्नी के नाम भी आप सुरक्षित निवेश करके लगभग 5 लाख रुपए की रकम ब्याज के रूप में अर्जित कर सकते हैं। अतः हमारे आलेख पर अंत तक बने रहकर आप अपने बचत को सही जगह लगाने की जानकारी का लाभ उठा सकते हैं।

डाक घर की मासिक आय योजना

पोस्ट ऑफिस की यह बचत योजना आपके लिए रेगुलर इनकम का बेहतर माध्यम बन सकती है। डाकघर में MIS खाता आप एकल या संयुक्त दोनों ही तरह से खोल सकते हैं। आप चाहे तो अपनी पत्नी या परिवार के किसी भी मेंबर के साथ ज्वाइंट अकाउंट खोल सकते हैं। ऐसे में आपकी निवेश राशि बढ़ जाने से ब्याज दर भी बढ़ जाएगी। इस प्रकार आप अपने निवेश से 5,55,000 रूपए तक की आय प्राप्त कर सकते हैं। इस कैलकुलेशन को निम्न प्रकार से समझें –

प्रतिमाह प्राप्त होगी ब्याज की रकम

इस MIS स्कीम में आपकी एकमुश्त जमा राशि पर प्रतिमाह ब्याज के रूप में इनकम होती रहेगी। ब्याज का भुगतान ग्राहक के पोस्ट ऑफिस सेविंग अकाउंट में हर महीने नियमित रूप से किया जाता है। आप चाहे तो 5 वर्ष बाद अपनी जमा राशि निकाल सकते हैं या परिपक्वता अवधि के बाद फिर से नया खाता खोलकर स्कीम का पुनः लाभ ले सकते हैं।

एकल या संयुक्त दोनों ही विकल्प में खोल सकते हैं खाता

ग्राहक अपनी सुविधा अनुसार एकल या संयुक्त रूप से दो-तीन लोगों के साथ मिलकर खाता खोल सकता है। एकल खाते में 9 लाख रुपए तथा संयुक्त खाते में 15 लाख रुपए तक जमा करने की छूट है। इस प्रकार इस योजना में यदि आप अपनी पत्नी के साथ मिलकर संयुक्त खाता खोलते हैं तो ब्याज के रूप में ही आप 5 लाख से अधिक की रकम प्राप्त कर लेंगे।

इस प्रकार होगी 5,55,000 रूपए की इनकम

वर्तमान में पोस्ट ऑफिस की MIS योजना में ग्राहक को 7.4% की दर से ब्याज उपलब्ध कराया जा रहा है। यदि खाता धारक संयुक्त रूप से अपनी पत्नी के साथ 15 लाख रुपए जमा करता है तो उसे ब्याज के रूप में प्रतिमाह 9,250 रूपए प्राप्त होंगे।

इस प्रकार एक वर्ष में 1,11,000 रूपए का होगा गारंटीड लाभ – 1,11,000*5 = 5,55,000 रुपए। अब आप देख सकते हैं कि पति-पत्नी दोनों मिलकर 5 वर्षों में 5,55,000 रूपए ब्याज के रूप में अर्जित कर सकते हैं।

इसी प्रकार इस योजना के तहत यदि एकल खाता खुलवाते हैं तो अधिकतम 9 लाख की जमा पर आपको 5,550 रुपए ब्याज के रूप में मिलेंगे। 1 वर्ष में यह रकम 66,600 रूपए हो जाएगी तथा 5 वर्ष में ब्याज के रूप में 3,33,000 हजार रुपए प्राप्त कर लेंगे।

कौन हो सकता है MIS का खाता धारक?

इस योजना में कोई भी भारतीय अपना खाता खोल सकता है। यदि किसी बच्चे के नाम खाता खुलवाना है और उसकी उम्र 10 वर्ष से कम है तो ऐसे में उसके नाम पर माता-पिता खाता खोल सकते हैं। 10 वर्ष की आयु पूरी होने पर बच्चा अपना अकाउंट खुद मैनेज करने का अधिकारी होगा। MIS खाता खोलने के लिए आपका डाकघर में बचत खाता होना चाहिए। आईडी प्रूफ के रूप में आधार कार्ड व पैन कार्ड मेंशन करना जरूरी है।

error: Alert: Content selection is disabled!!
WhatsApp चैनल ज्वाइन करें