शेयर, बिटकॉइन, बॉन्ड और सोना में से किसमें करें निवेश, जानिए इनमें से कौन है सबसे बेहतर विकल्प?

Best Investment Plan: शेयर बाजार और सोने के दाम अपने उच्चतम स्तर पर हैं, जबकि बिटकॉइन ने हाल ही में नया रेकॉर्ड बनाया है। डेट फंड्स में भी ब्याज दरों में कटौती की संभावना है। इसी के चलते निवेशकों को कनफ्यूज हो रहा है कि वे किस विकल्प में पैसा निवेश करें। निवेशकों में वर्तमान में कनफ्यूजन का माहौल है। सभी निवेश विकल्पों में तेजी दिख रही है।

Best Investment Plan

शेयर बाजार, सोना, और क्रिप्टो मार्केट सभी अच्छे स्तर पर हैं। ब्याज दरों में कटौती की संभावना के बाद डेट फंड्स में भी अच्छा रिटर्न मिल सकता है। ऐसी स्थिति में निवेशकों को समझ नहीं आ रहा है कि वे कहां पैसा निवेश करें, चलिए बताते हैं एक्टपर्ट्स क्या कहते हैं?

क्या है बेस्ट इनवेस्टमेंट प्लान? (Best Investment Plan)

इक्विटी: सेंसेक्स और निफ्टी50 अपने उच्चतम स्तर के करीब ट्रेड कर रहे हैं। जानकारों का मानना है कि निवेशकों को अपने पोर्टफोलियो में सबसे ज्यादा इक्विटी में निवेश करना चाहिए, और एसआईपी सबसे बेहतर विकल्प है। निवेशक के पोर्टफोलियो में 20% पैसिव लार्ज-कैप फंड, 50% फ्लेक्सी-कैप फंड, और 30% मिड-कैप फंड होना चाहिए। इससे आपके पोर्टफोलियो का डाइवर्सिफिकेशन होगा और जोखिम में संतुलन बना रहेगा।

डेट: मीडियम-टर्म गोल के लिए डेट बेस्ट एसेट क्लास है, क्योंकि ब्याज दरों में कटौती की संभावना से डेट फंड्स पर ज्यादा रिटर्न मिल सकता है। इंटरेस्ट रेट में कमी के समय बॉन्ड की कीमतें बढ़ती हैं, जिससे ज्यादा जोखिम भी नहीं होता। जो निवेशक ज्यादा जोखिम नहीं लेना चाहते हैं, वे अपने पोर्टफोलियो का 40% डेट में निवेश कर सकते हैं। इसी तरह, 40% इक्विटी में और बाकी 20% दूसरे एसेट क्लास में निवेश किया जा सकता है।

गोल्ड: सोने की कीमत आज ऐतिहासिक ऊंचाई पर पहुंच गई है। विशेषज्ञों का कहना है कि निवेशकों को अपने पोर्टफोलियो का 15 से 20 फीसदी सोने में निवेश करना चाहिए। पिछले 20 साल में सोने ने 11% से अधिक सालाना रिटर्न दिया है, जबकि चांदी की रिटर्न नौ फीसदी रही है। हाल के वर्षों में चांदी ने सोने से बेहतर रिटर्न दिया है।

बिटकॉइन: क्रिप्टोकरेंसीज की कीमत में तेजी आई है, और बिटकॉइन ने अपनी सबसे ऊंची कीमत तक पहुंची है। भारत में सरकार ने अभी तक क्रिप्टोकरेंसीज को नियंत्रित नहीं किया है। विशेषज्ञों का कहना है कि क्रिप्टो में 5-10% से अधिक निवेश न करें। यहां तक कि बिटकॉइन के बावजूद, पिछले वर्षों में इसने सबसे अधिक रिटर्न दिया है।

कितना कैश होना चाहिए?

विशेषज्ञों का कहना है कि सारा पैसा एक ही जगह न निवेश करें। आपके सेविंग अकाउंट में कम से कम छह महीने की खर्च के लिए कैश होना चाहिए। शेयर मार्केट में स्मॉलकैप और मिडकैप शेयरों में गिरावट की आशंका है, इसलिए निवेशकों को विविधता लानी चाहिए। आदर्श स्थिति में, निवेशकों को अपने पोर्टफोलियो का 50% इक्विटी, 20% डेट, 10% गोल्ड, 10% कैश, 5% सिल्वर, और 5% क्रिप्टो में निवेश करना चाहिए।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें