एक बार चार्ज करने पर 1500 किलोमीटर तक चलेगी इलेक्ट्रिक कार, अब बार-बार नहीं होगी चार्जिंग की समस्या

पिछले एक साल के अंदर दुनिया की बड़ी-बड़ी ऑटोमोबाइल कंपनियों ने इलेक्ट्रिक कार, बाइक और स्कूटर लॉन्च की है। अब हर कोई अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूत करने के लिए पेट्रोल-डीजल की जगह इलेक्ट्रिक वाहन खरीदना पसंद करते हैं। लेकिन अब तक जितनी भी इलेक्ट्रिक वाहन लॉन्च हुई है उसकी सबसे बड़ी समस्या रेंज है, क्योंकि लगभग सभी वाहनों में कम रेंज देखने को मिल रही है।

Electric Car

जब किसी इलेक्ट्रिक कार, बाइक या स्कूटर में रेंज कम होती है तो हमें बार-बार चार्ज करना पड़ता है। यह इसकी सबसे बड़ी समस्या है। इसी वजह से बहुत सारे लोग आज भी इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने से पीछे हटते हैं। लेकिन अब जल्द इस समस्या का समाधान मिलने वाला है, क्योंकि अब ऐसी वाहन आने वाली है जिसमे 1500 किलोमीटर तक की रेंज मिलेगी।

अब 1500 किलोमीटर की मिलेगी रेंज

अब तक दुनिया में जितनी भी इलेक्ट्रिक कार लॉन्च हुई है उसमे 1000 से भी कम की रेंज मिल रही है। इस वजह से अब भी लोग किसी ऐसी कार का इंतजार कर रहे हैं जिसमे ज्यादा रेंज मिले। अब जल्द बार-बार चार्जिंग की समस्या से निजात मिलने वाला है, क्योंकि Indian Institute of Technology Bombay के वैज्ञानिकों को बड़ी सफलता मिली हैं।

इस इंस्टीट्यूट के वैज्ञानिकों ने एक ऐसी लिथियम सल्फर बैटरी की खोज की है जिसकी मदद से कार, बाइक और स्कूटर की बैटरी क्षमता को बढ़ाया जा सकता है। हाल ही में उस बैटरी की क्षमता को लेकर परिक्षण किया गया है जिसमे मालूम चला है कि उसकी मदद से इलेक्ट्रिक वाहनों की रेंज 1500 किलोमीटर तक बढया जा सकता है।

उस बैटरी को लेकर खुलासा किया गया है कि सबसे पहले उसका उपयोग ड्रोन इलेक्ट्रिक कार में किया जाएगा। इस कार की वजह से ट्रैफिक की दिक्कतों से निजात मिलेगी। जब उस बैटरी का इस्तेमाल सभी वाहनों में किया जाएगा, फिर हर कोई इलेक्ट्रिक वाहन खरीदना शुरू कर देंगे। उसके बाद चाहकर भी कोई पेट्रोल-डीजल की गाड़ियों की तरफ ध्यान नहीं देंगे।

इस बैटरी की प्राइस होगी कम

अभी के समय में जितनी भी इलेक्ट्रिक वाहन लॉन्च हो रही है उसकी प्राइस पेट्रोल-डीजल की तुलना में बहुत ज्यादा है। क्योंकि उसकी बैटरी के ऊपर बहुत ज्यादा खर्च होता है, लेकिन लिथियम सल्फर बैटरी की वजह से लोगों की आर्थिक स्थिति पर ज्यादा बुरा प्रभाव नहीं पड़ेगा। क्योंकि लिथियम सल्फर बैटरी साइज में छोटा होने के साथ-साथ शक्तिशाली और सस्ता भी होने वाला है। इस वजह से इलेक्ट्रिक वाहन की प्राइस भी कम होगी।

error: Alert: Content selection is disabled!!
WhatsApp चैनल ज्वाइन करें