किडनी की पथरी के लिए रामबाण है ये फूल, इसका इस्तेमाल करने से दूर हो जाएगी मूत्र रोग, जानिए इसके फायदे

प्रकृति में बहुत सी ऐसी चीज पाई जाती है जो हमारी सेहत के लिए किसी वरदान से काम नहीं है एक ऐसा औषधीय पौधा जिसकी खूबसूरती तन और मां को सुकून देती है और इसका फुल हमारी सेहत के लिए काफी लाभदायक है, क्योंकि यह औषधीय गुणों से भरपूर है।

China pink

किडनी की पथरी हो या पाचन तंत्र की समस्या यह फूल हर समस्या में बहुत लाभकारी है। हम बात कर रहे हैं डायन्थस चिनेंसिस औषधि की, जो बहुत ही लोकप्रिय है और सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है। डायन्थस चिनेंसिस को लोग चीनी गुलाब के नाम से भी जानते हैं। 

क्या कहना है स्वास्थ्य विशेषज्ञों का

कुछ स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि डायन्थस चिनेंसिस न केवल देखने में खूबसूरत है बल्कि औषधिय गुणों से भरपूर पौधा है। इसे लोग घरों में सजावट के लिए भी उपयोग करते हैं। ये इंडोर प्लांट की श्रेणी में आता है, साथ ही ये तमाम गंभीर बीमारियों को जड़ से खत्म करने में मदद करता है। 

स्ट्रेस रिमूवल प्लांट

डायन्थस चिनेंसिस एक ऐसा पौधा है जिसे आसानी से घर के अंदर उगाया जा सकता है। इसे ज्यादा धूप और पानी की भी जरूरत नहीं होती। इसे स्ट्रेस रिमूविंग प्लांट भी माना गया है, इसकी खूबसूरती इतनी अच्छी है कि इसे देखते ही सारे तनाव छूमंतर हो जाता है। इसके सुंदर फूलों को देखकर राहत भरा सुकून होता है और आयुर्वेद में ये बहुत पहले से स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए उपयोग में लाया जा रहा है। 

डायन्थस चिनेंसिस के स्वास्थ्य लाभ

बहुत से आयुर्वेदिक विशेषज्ञों का मानना है कि इसके नियमित प्रयोग से पाचन तंत्र मजबूत होता है।  इतना ही नहीं इसके फूल किडनी में पथरी, आंखों के रोग, मूत्र रोग में भी बहुत लाभकारी हैं। घरों में ये पौधा सजावट के रूप में काफी उपयोग किया जाता है। इसके प्रयोग से त्वचा में होने वाली जलन और सूजन को भी कम किया जाता है। इसकी कई प्रजातियां होती हैं जिसमें गुलाबी, सफेद और लाल रंग की प्रजाति काफी लाभकारी है और अनेक रोगों में लाभ प्रदान करती है। 

सावधानी का रखें ख्याल

ये एक हर्बल औषधि है इसका अभी तक कोई भी साइड इफेक्ट नजर नहीं आया है, लेकिन बहुत ज्यादा मात्रा में इसका प्रयोग नहीं करना चाहिए। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि औषधीय दृष्टिकोण से इसका बहुत ज्यादा उपयोग करना हानिकारक भी हो सकता है। इसका उपयोग आयुर्वेदिक चिकित्सक से परामर्श लेने के बाद ही करें, तो ज्यादा लाभ मिलेगा। चिकित्सक आपकी उम्र और बीमारी के हिसाब से सही मात्रा में इस औषधि को प्रयोग करने का तरीका बताएंगे। 

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें