Cash Limit: कानून के अनुसार घर में अधिकतम कितना कैश रख सकते हैं? यहां जानिए कैश लिमिट की सभी जानकारी

Cash Limit: भारत डिजिटलाइजेशन की ओर बढ़ रहा है। ऐसे में अब लोग बेहद कम ही कैश का प्रयोग करते हैं। आजकल छोटी-मोटी बुनियादी चीजों के लिए भी लोग ऑनलाइन ऐप का उपयोग कर भुगतान कर रहे हैं।

Cash Limit

हालांकि कई जगहों पर आज भी कैश के जरिए ही लेनदेन होती है। ऐसे में अक्सर लोगों के मन में यह सवाल उठता है कि आखिर आप अपने घर में कितना कैश रख सकते हैं? इनकम टैक्स के अनुसार घर में कैश रखने की कितनी लिमिट है। इस लेख में हम आपको इन्हीं सब चीजों से जुड़ी जानकारी साझा करने वाले हैं।

बता दें कि घर में कैश रखने के लिए आपको उसका स्रोत और इनकम टैक्स रिटर्न की जानकारी देना अनिवार्य है। अगर आप इन सब जानकारी को एकत्रित नहीं रखते हैं तो आपको इनकम टैक्स द्वारा परेशान किया जा सकता है।

इनकम टैक्स के मुताबिक कोई भी व्यक्ति अपने घर में जितना चाहे उतना कैश रख सकता है हालांकि यह पैसे कानूनी रूप से कमाया गया हो और इसका लेखा-जोखा इनकम टैक्स के पास मौजूद हो। घर में बड़ी मात्रा में कैश रखना कोई नई बात नहीं है, हालांकि इसकी जानकारी इनकम टैक्स रिटर्न बुक्स में दर्ज होना चाहिए। अगर आपकी आय सरकार को नहीं पता है तो यह पैसा चोरी का माना जाएगा। इसके बाद इनकम टैक्स आप पर भारी जुर्माना के अलावा जेल तक की सैर करा सकती है।

कब पड़ता है छापा?

बता दें की इनकम टैक्स अधिकारी की नजर आपके कैश के ऊपर उस दौरान पड़ती है जब कोई व्यक्ति असामान्य रूप से बड़ी मात्रा में कैश की लेनदेन कर रहा हो। इसके अलावा व्यक्ति अपने पैसे के स्रोत का स्पष्टीकरण नहीं देता हो। अगर इस कैश का सही स्रोत और स्पष्टीकरण दिया गया है और सही तरीके से इस बात की जानकारी वित्त रिकॉर्ड में दर्ज की गई है तो इससे इनकम टैक्स आपको परेशान नहीं करेगा।

सावधानी से करें काम

अगर आप भी कैश का लेनदेन बड़ी मात्रा में करते हैं तो यह जरूरी है कि अपनी इनकम का स्पष्टीकरण खासकर के वित्त गतिविधि को इनकम टैक्स रिटर्न में स्पष्टीकरण कारण सही ढंग से दर्ज करें। हालांकि अगर आपको इन सब प्रक्रिया को करने में कठिनाई होती है तो आप इनकम टैक्स एडवाइजर और चार्टर्ड अकाउंटेंट की मदद ले सकते हैं।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें