इन 9 आदतों को बदलने से मनुष्य का जीवन हो जाता है सफल, पूरी तरह बदल जाती है किस्मत, फिर नहीं रहती किसी चीज की कमी

हम सभी अपने जीवन में जाने अनजाने कुछ ऐसे काम करने के अभ्यस्त हो जाते हैं जिनके कारण हमारे जीवन में समस्याएं बनी रहती हैं और भाग्योदय के सभी रास्ते बंद दिखते हैं। भारतीय ज्योतिष शास्त्र में इन भाग्य अवरोधी आदतों और उनके सुधार के लिए समाधान दिए गए हैं।

Astrology

ज्योतिष शास्त्र में ऐसी ही 9 बातों का उल्लेख किया गया है जिसे सुधार करके हम अपने जीवन में सुख शांति और समृद्धि ला सकते हैं। इस वजह से जिन लोगों के जीवन में बहुत सारी परेशानी खड़ी हो गई है उन्हें उन आदतों को जल्द से जल्द बदलना चाहिए, ताकि उनके जीवन में आ रही बाधाओं से मुक्ति मिल सके।

1. घर आए अतिथि को स्वच्छ जल पिलाएं। शास्त्रों में कहा गया है, “अतिथि देवो भव” यदि हम घर आए मेहमान को साफ और शुद्ध पानी पिलाकर तृप्त करते हैं तो ऐसा करने से कुंडली पर राहु का प्रभाव खत्म होने लगता है जिसके परिणाम स्वरूप जीवन में आ रही आकस्मिक परेशानी से निजात मिलती है।

2. यहां वहां थूकने की आदत से बचें क्योंकि इस तरह की आदत से समाज में आपका मान सम्मान व प्रतिष्ठा दिनोंदिन घटती जाएगी। इसलिए थूकने के निर्धारित स्थान (वॉश बेसिन) नें ही थूकें। यह गंदी आदत सौभाग्य को कम करती है।

3. यदि घर में पेड़ पौधे हैं तो उनकी नियमित देखभाल करें और प्रतिदिन आवश्यकतानुसार पानी डालें। ऐसा करने से कुंडली में बुध, सूर्य और चंद्रमा की स्थिति मजबूत होती है और जीवन में मौजूद परेशानियों से छुटकारा मिलता है।

4. स्नान करते समय अपने पैरों की साफ सफाई अच्छे से करनी चाहिए क्योंकि ऐसा ना करने से व्यक्ति चिड़चिड़े स्वभाव का हो जाता है और जीवन में नकारात्मकता बढ़ जाती है। तनाव के कारण हम अपने काम पर फोकस नहीं कर पाते।

5. किचन में जूठा बर्तन छोड़ देना विफलता का कारण होता है। जिस घर में साफ-सुथरी रसोई होती है वहां सौभाग्य विराजमान रहता है। रसोई में बर्तन हमेशा मंजे धुले होने चाहिए। क्योंकि इससे जातक के शनि और चंद्रमा ग्रह शुभ फल प्रदान करते हैं।

6. जिस घर में जूते चप्पल इधर-उधर और बेतरतीब रखे होते हैं, वहां राहु और शनि का प्रकोप सदैव परेशान करता रहता है साथ ही जातक के शत्रु भी हमेशा हावी रहते हैं जिससे परिवार में समस्या बनी रहती है

7. कभी भी घर से बाहर जाते समय खाली हाथ नहीं निकलना चाहिए। यदि आप कार्यालय, प्रतिष्ठान तथा यात्रा पर जा रहे हैं तो हाथ में कुछ ना कुछ लेकर जाएं तथा वहां से वापसी में भी ऐसा ही करें। ऐसा न करने पर मां लक्ष्मी का प्रकोप झेलना पड़ता है। यदि आप अपने घर कुछ लेकर आते हैं तो साथ में खुशियां भी लाते हैं। ऐसा करने से परिवार में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है।

8. भारतीय ज्योतिष में ऐसी मान्यता है कि अन्न के अपमान से नवग्रह नाराज हो जाते हैं अतः अपनी थाली में उतना ही खाना लें, जितनीआपको भूख है। अपनी थाली में जूठन छोड़ने वाले व्यक्ति के पास धन का अभाव हो जाता है।

9. दक्षिण दिशा की ओर मुंह करके भोजन नहीं करना चाहिए। सामान्य दिनों में ऐसा करना अपशकुन मानते हैं। मान्यता के अनुसार ऐसा करने से आयु कम होती है।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें