Business Ideas: सिर्फ 10 हजार रुपए लगाकर शुरू करें ये बिजनेस, हर महीने होगी 60 हजार की कमाई, जानिए पूरी प्रक्रिया

Business Ideas: केंद्र सरकार ने मोटर वाहन एक्ट (Motor Vehicles Act) लागू किया है। इस एक्ट के कारण प्रदूषण जांच केंद्र(Pollution Testing Center) उभरता व्यवसायिक विकल्प बनकर सामने आ रहा है। केंद्र सरकार के निर्देशानुसार वाहन चालक के पास वाहन एक्ट के तहत प्रदूषण प्रमाण पत्र(Pollution Under Control-PUC) होना अनिवार्य है। ऐसा नहीं होने पर उन्हें जुर्माना राशि भरनी पड़ेगी।

Business Ideas

अतः ऐसी स्थिति में सभी वाहन मालिकों को प्रदूषण प्रमाण पत्र(PUC) की जरूरत पड़ती है। ऐसे में PUC प्रमाण पत्र का बिजनेस आपके लिए निश्चित रूप से फायदेमंद साबित होगा। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सभी प्रकार के वाहन चालकों के पास पॉल्यूशन सर्टिफिकेट(PUC) अनिवार्य है। निरीक्षण के दौरान यदि किसी वाहन चालक के पास PUC नहीं है तो उसे ₹10000 तक का अर्थ दंड भरना पड़ सकता है।

प्रदूषण जांच केंद्र का व्यवसाय कैसे शुरू करें?

इसके लिए सर्वप्रथम अपने करीबी लोकल ट्रांसपोर्ट ऑफिस(RTO) में लाइसेंस के लिए आवेदन करना होगा। आवेदन फार्म के साथ ₹10 का एफिडेविट व लोकल अथॉरिटी से NOC भी लेना होगा। प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए भिन्न भिन्न राज्यों में भिन्न-भिन्न शुल्क देय हैं। कुछ राज्यों में इस कार्य के लिए आप ऑनलाइन भी अप्लाई कर सकते हैं। उपरोक्त औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद आपको RTO की तरफ से लाइसेंस प्राप्त हो जाएगा।

क्या होगी व्यवसायिक लागत व इनकम?

प्रदूषण जांच केंद्र के व्यवसाय को शुरू करने के लिए आप को बहुत भारी भरकम निवेश की आवश्यकता नहीं है, मात्र ₹10,000 लगाकर आप अपना बिजनेस शुरू कर सकते हैं जो कि जरूरत की चीजों और शुरुआती खर्चों के लिए जरूरी है। आज के दौर में यदि आप अपना प्रदूषण जांच केंद्र हाईवे और एक्सप्रेस-वे के पास खोलते हैं तो यह बेहतर विकल्प होगा क्योंकि इन जगहों पर ग्राहकों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ ही रही है। इस प्रकार आप अनुमानतः 1500 से ₹2000 प्रतिदिन कमा सकते हैं।

नियम व शर्तें

इस केंद्र को खोलने के लिए कुछ नियमों व दिशा निर्देशों का पालन करना आवश्यक है जो नीचे दिए जा रहे हैं, उसके बाद ही अप यह काम शुरू कर सकते हैं तो चलिए अब हम आपको उन दिशा-निर्देशों के बारे में बताते हैं –

  • प्रदूषण जांच केंद्र की अलग पहचान के लिए इसका केबिन पीले रंग का होना चाहिए।
  • केबिन का आकार निम्नवत् होना चाहिए –
  • 2.5 मीटर लंबाई
  • 2 मीटर चौड़ाई
  • 2 मीटर ऊंचाई
  • केबिन के बाहर सामने ऊपर की तरफ प्रदूषण जांच केंद्र का लाइसेंस नंबर साफ-साफ लिखा होना चाहिए।

यदि आप उपर्युक्त नियमों और निर्देशों का पालन करने में सफल होते हैं तो प्रदूषण जांच केंद्र खोलकर कम लागत में अधिक कमाई का लाभ उठा सकते हैं। इस बिजनेस को शुरू करने में ज्यादा पैसे भी नहीं खर्च करने पड़ते हैं तथा इससे अच्छी कमाई भी हो जाती है।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें