क्या आप भी इन चीजों का सेवन कर रहे हैं? तो हो जाए सतर्क, वरना मेमोरी हो जाएगी कमजोर, फिर जवानी में आ जाएगा बुढ़ापा

हमारे दिमाग पर हमारे खान-पान का असर बहुत पड़ता है। आप जैसा खायेंगे आपकी मेमोरी उसी प्रकार से  काम करेगी। साधारणतः हम लोग देखते हैं कि जिनकी उम्र बढ़ती है, उनके सोचने समझने की क्षमता कमजोर होने लगती है और उनकी याददाश्त पर भी उनकी उम्र का प्रभाव पड़ता है, लेकिन आजकल के समय में ऐसा नहीं है।

worst foods for memory loss

खराब लाइफस्टाइल की वजह से भी कम उम्र में लोगों की मेमोरी शॉर्ट होने लगी है। ऐसे में मनुष्य को उन चीजों का सेवन करना बंद कर देना चाहिए, जो उनकी मेमोरी के लिए खतरा साबित हो सकता है तो चलिए आगे इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे फूड के बारे में बताते हैं :-

हाई ग्लाइसेमिक इंडेक्स फूड

हाय ग्लाइसेमिक इंडेक्स फूड वो फूड होते हैं जो आसानी से ब्लड वेसल्स यानी रक्त वाहिकाओं में चले जाते हैं और ब्लड में शुगर का लेवल बढ़ा देते हैं। जैसे कि ब्रेड, पास्ता आदि। ये खाद्य पदार्थ रिफाइंड कार्ब्स की श्रेणी में आते हैं, भले ही ये पदार्थ स्वाद में मीठे ना हो लेकिन शरीर के अंदर ये शुगर बढ़ाने के लिए काफी हैं। ऐसे में अगर आप इनका अधिक सेवन करते हैं तो आगे चलकर वजन बढ़ने लगेगा और मेटाबॉलिक डिसऑर्डर होंगे। साथ ही इसका सीधा प्रभाव आपके याद करने की क्षमता पर पड़ेगा। 

हाई नाइट्रेट फूड

हाल ही में हाई नाइट्रेट फूड को लेकर हुई रिसर्च ये बताती है कि ये खाद्य पदार्थ डिप्रेशन लेवल को बढ़ा सकते हैं। साथ ही हमारी आंत के गुड बैक्टीरिया को भी इन खाद्य पदार्थों से नुकसान पहुंचता है। इतना ही नहीं अगर आप इन खाद्य पदार्थों का ज्यादा सेवन करते हैं तो आपको बाइपोलर डिसऑर्डर की समस्या हो सकती है। ये एक ऐसा परसर्वेटिव है, जिसका उपयोग भोजन के रंग को बेहतर बनाने के लिए किया जाता है जैसे कि सॉस और बैकॉन जैसी खाद्य सामग्रियों  में इसका उपयोग किया जाता है। इसलिए अगर आप हेल्दी रहना चाहते हैं और आप चाहते हैं कि आपका दिमाग अच्छी तरह से काम करे, तो आपको इन खाद्य पदार्थों को अपनी डाइट में शामिल नहीं करना चाहिए। 

ज्यादा तले भुने पदार्थ

अगर आप अपनी डाइट में ज्यादा तला भुना आहार शामिल करते हैं जैसे कि फ्राइड चिकन, पकोड़े, डोनट्स आदि तो आपकी कॉग्निटिव हेल्थ पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है। अध्ययन के मुताबिक ज्यादा मात्रा में तली हुई खाद्य सामग्रियों के सेवन से याददाश्त कमजोर होने लगती है, क्योंकि ये पदार्थ मस्तिष्क तक जाने वाली ब्लड वेसल्स में सूजन पैदा कर देते हैं, जिसकी वजह से याददाश्त कमजोर हो जाती है। इतना ही नहीं डीप फ्राई फूड खाने से डिप्रेशन का जोखिम भी बढ़ जाता है और हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए डीप फ्राई फूड जहर माना गया है। 

अल्कोहल

जो लोग अल्कोहल का सेवन करते हैं उनकी लाइफ स्टाइल हेल्दी नहीं होती, लेकिन लोग तनाव कम करने और बहुत सी दूसरी वजहों से शराब का सेवन करने लगते हैं। वो इस बात पर भी ध्यान नहीं देते कि शराब की सेवन से ब्रेन फॉग और मनोभ्रम जैसी स्थिति उत्पन्न हो सकती है।  2018 के ब्रिटिश मेडिकल के जनरल के अनुसार जो लोग शराब का सेवन करते हैं उनमें डिमेंशिया की स्थिति पैदा होने के जोखिम बढ़ जाते हैं। 

अगर आप अपनी लाइफ स्टाइल में बदलाव करेंगे तो आप एक हेल्थी लाइफ जी पाएंगे, इसलिए अपने खाने पीने का पूरी तरह से ध्यान रखें और रोजाना एक्सरसाइज करें, जिससे आपकी सेहत अच्छी और दिमाग स्ट्रांग रहे। 

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें