भारतीय नोटों पर महात्मा गांधी से पहले किसकी छपती थी तस्वीर? यहां जानें इसका पूरा इतिहास

Indian Currency Notes History: पैसा हर किसी को प्यारा होता है, क्योंकि इसके जरिए बहुत सी सुख-सुविधाओं को हम खरीद सकते हैं। इसे कमाने के लिए व्यक्ति दिन-रात मेहनत करता है और जब महात्मा गांधी की मुस्कुराती हुई तस्वीर वाले कई नोट व्यक्ति के हाथों में आते हैं तो वो अपनी सारी मेहनत भूल जाता है।

Indian Currency Notes History

भारतीय नोट पर महात्मा गांधी की तस्वीर हम सभी शुरू से देख रहे हैं और इसपर काफी मीम्स भी बन चुके हैं। मनमोहन दास करमचंद्र गांधी को प्यार से महात्मा गांधी या बापू कहते हैं जिन्होंने भारत की आजादी में अहम किरदार निभाया। भारतीय नोटों पर उनकी तस्वीर दशकों से छपी है लेकिन इनके पहले नोटों पर किसी और की तस्वीर होती थी।

लगभग आधी सदी पहले जब राष्ट्रपिता की जयंती पर महात्मा गांधी की तस्वीर भारतीय नोटों पर पहली बार छपी थी। 100 रुपये के स्मारक मुद्रा पर महात्मा गांधी की मुस्कुराती हुई तस्वीर थी जो आज भी चल रही है। 1947 में जब आजादी हुई तब महसूस किया गया था कि ब्रिटिश राजा की तस्वीर की जगह महात्मा गांधी की तस्वीर भारतीय नोटों पर होनी चाहिए लेकिन ऐसा करने में भारत को काफी समय लगा। चलिए आपको भारतीय नोटों का इतिहास बताते हैं।

भारतीय नोटों का इतिहास क्या है? (Indian Currency Notes History)

आजादी के बाद तक ब्रिटिश राजा की तस्वीर भारतीय नोटों पर लगी रहती थी। बाद में राजा की तस्वीर को लायन कैपिटल में बदला गया। साल 1969 में रिजर्व बैंक ने 100 रुपये का एक स्मारक नोट जारी किया जिसमें महात्मा गांधी को सेवाग्राम आश्रम में बैठा दिखाया गया। हालांकि महात्मा गांधी की तस्वीर हर नोटों पर साल 1987 से दिखने लगी, जिसमें महात्मा गांधी मुस्कुराते हुए नजर आए।

1987 के बाद महात्मा गांधी की तस्वीर वाले अलग-अलग नोट जारी किए गए जिसमें 1 रुपये, 2 रुपये, 5 रुपये, 10 रुपये, 50 रुपये, 100 रुपये और 500 रुपये थे। बाद में 1000 रुपये के नोट बने और 2016 में उसे बंद करके 2000 हजार के नोट जारी किए गए, हालांकि अब उन्हें बंद करने की प्रक्रिया जारी है।

साल 1954 में 1000, 5000 और 10,000 हजार रुपये के नोट जारी किए गए थे लेकिन बाद में उन्हें बंद कर दिए गए। ऐसा बताया जाता है कि इनमें से सिर्फ हजार रुपये का नोट मार्केट में जारी किया गया था। 1980 में नोटों का बिल्कुल नया सेट देखने को मिला था। समय समय पर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया केंद्र सरकार की सहमती से नोटों में परिवर्तन करता रहता है।

साइंस और टेक्नोलॉजी के प्रतीकों (2 रुपये के नोट पर आर्यभट्ट), प्रगति (1 रुपये पर तेल रिग और 5 रुपये में कृषि मशीनीकरण) और 20 रुपये, 10 रुपये पर भारतीय कला रूपों के प्रति अभिविन्यास में बदलाव हुए। आज के समय में 10 रुपये, 20 रुपये, 50 रुपये, 100 रुपये, 500 रुपये का नोट मार्केट में चल रहा है।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें